Accountant kaise bane? अकाउंटेंट मीनिंग इन हिंदी

Accountant kaise bane? : जैसे – जैसे व्यवसाय का दायरा बढ़ता जा रहा है वैसे – वैसे business professionals की भी समय के साथ demand बढ़ती जा रही है. जरुरी नहीं है कि आप CA और CS बनकर ही accounting के क्षेत्र में करियर बना सकते हैं, आप चाहें तो एक पेशेवर accountant बनकर भी इस क्षेत्र में सफल career बनाने में कामयाब हो सकते हैं.

यदि आप भी एक professional accountant बनकर accounting के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं और जानना चाहते हैं कि – एक सफल ‘Accountant कैसे बनें?’ तो इस लेख के साथ अंत तक बने रहें.

आपको बता दें कि किसी भी व्यवसाय का लेखा – जोखा करने का कार्य काफी जिम्मेदारीपूर्ण होता है. Accountants फाइनेंस से जुड़े कई प्रकार के कार्य करते हैं और इस क्षेत्र में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है. इनका कार्य काफी दायित्व वाला होता है जिसे इन्हे तय समय सीमा के अंदर पूरा करना होता है.

कुछ आवश्यक स्किल्स, लेखांकन सम्बंधित basic knowledge, मेहनत, कार्य के प्रति समर्पण और लगातार सीखने की जिज्ञाषा के बल पर कोई भी एक अच्छा accountant बन सकता है. यह बहुत ज्यादा खर्चीला भी नहीं है और ऐसा भी नहीं है कि इस क्षेत्र में करियर बनाना बहुत ज्यादा मुश्किल है. हाँ इतना जरूर है कि एक अकाउंटेंट को अपना कार्य समय के साथ सटीक और जिम्मेदारीपूर्वक करना होता है.

Accountant कैसे बनें? इस सवाल का उत्तर जानने से पहले आपको ये समझना जरुरी है कि अकाउंटेंट क्या होता है? ये कौन कौन से कार्य करते हैं.

अकाउंटेंट क्या होता है? What is an Accountant?

Accountant को हिंदी में हम लेखापाल, लेखाकार या मुनीम के नाम से भी जानते हैं. एक accountant वह पेशेवर व्यक्ति होता है जो कई प्रकार का लेखांकन कार्य करता है. ये विभिन्न प्रकार के business के लिए लेखा – जोखा सम्बन्धी कार्य करते हैं.

जैसा कि हम सभी को ज्ञात है इस बदलते दौर के साथ – साथ business करने के तरीकों में भी काफी बदलाव देखा जा रहा है. बड़ी कम्पनियाँ को तो छोड़ ही दीजिये कई वजहों से आजकल छोटे फर्म या shop owner भी अपने व्यवसाय का उचित प्रबंधन के लिए accountant की जरुरत महसूस करते हैं.

Accountants वास्तव में वित्तीय पेशेवर (financial professionals) होते हैं जो विभिन्न प्रकार के संस्थानों से जुड़कर उनका प्रत्येक दिन का business transactions को manage करने का कार्य व्यवस्थित ढंग से करते हैं.

एक पेशेवर Accountant कौन – कौन सा मुख्य कार्य करता है?

वित्त-संबंधित कार्यों को करने के लिए एक accountant का क्षेत्र काफी व्यापक है जिसके कारण बाजार में आज के दौर में एक अच्छे professional accountant की काफी मांग है. ये कई प्रकार के कार्यों को करने के लिए जिम्मेदार होते हैं जैसे –

  • सम्बंधित व्यवसाय के लेनदेन को प्रत्येक दिन मैनेज करना
  • वित्तीय रिपोर्ट तैयार करना
  • GST return/टैक्स रिटर्न फाइल करना
  • TDS, ई – फाइलिंग सम्बंधित कार्य करना
  • सम्बंधित विभाग के बैलेंस शीट को मैनेज करने की क्षमता होना
  • जो भी financial documents होते हैं उसकी सटीकता सुनिश्चित करना
  • वित्तीय सम्बन्धी मार्गदर्शन देना
  • जोखिमों का विश्लेषण करना

Accountant kaise bane?

बहुत सारे लोग सोंचते हैं कि tally सीखकर कोई भी सफल accountant बन सकता है किन्तु ऐसा नहीं है. एक पेशेवर accountant बनकर जब आप किसी व्यवसाय की कार्यभार सम्हालते हैं तो आपके पास एकाउंटिंग की बुनियादी जानकारी भी होना चाहिए.

टैली के साथ – साथ दुसरे एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर में भी पूरा कमांड होना चाहिए और सबसे महत्वपूर्ण बात एक accountant बनकर कार्य शुरू करने से पहले आपको कुछ दिनों की proper ट्रेनिंग लेने की भी आवश्यकता होती है. इसप्रकार की ट्रैंनिंग आप किसी चार्टर्ड अकाउंटेंट या पेशेवर अकाउंटेंट से भी ले सकते हैं.

ध्यान रहे, एकाउंटिंग के क्षेत्र में उतर कर एक अकाउंटेंट के तौर पर काम करने के लिए केवल सैद्धांतिक ज्ञान ही काफी नहीं है, इसके साथ – साथ practical ज्ञान का भी होना आवश्यक है.

Accountant बनने के लिए आपके पास कुछ आवश्यक योग्यता होना चाहिए जैसे

  • आपके पास कम से कम B. com की डिग्री होनी चाहिए
  • Accounts की basic जानकारी होनी चाहिए
  • एकाउंट्स से सम्बंधित कानूनों और नियमों के साथ उनका अनुपालन करना आना चाहिए
  • सामान्य गणितीय कौशल होना चाहिए
  • कम्प्यूटर में अच्छा कमांड होना चाहिए
  • Tally की अच्छी जानकारी होनी चाहिए
  • अन्य accounting software का उपयोग करने में सक्षम होना चाहिए
  • वित्तीय डेटा एकत्र करना और उसका विश्लेषण करने की क्षमता
  • किसी C.A. के under में काम करने का अनुभव होना चाहिए

अन्य महत्वपूर्ण बात : निष्कर्ष

एक पेशेवर अकाउंटेंट बनने के लिए B. com की डिग्री प्राप्त करने के साथ – साथ Tally की अच्छी जानकारी आपके पास होना जरुरी है, क्योंकि अधिकांश जगहों में इस सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जाता है. इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए पहले आपको काम सीखना होगा और इसके लिए आप किसी C.A. के under में काम करके कार्य अनुभव प्राप्त कर सकते हैं.

जब आप किसी C.A. के under में रहकर काम सीखते हैं तो हो सकता है वहां आपको बहुत कम सैलरी मिले या ना भी मिले, तो भी शुरूआती दौर में आपको काम सीखने में ही ध्यान देना चाहिए. ऐसे समय में जब आप काम सीख रहे हों तब सैलरी को नज़रअंदाज करें. जब आप काम सीख जाएंगे और किसी कंपनी का अकाउंट संभालने लगेंगे तो शुरुआत में आप कम से कम 15000/- रुपया मासिक कमा सकते हैं. यह आय आपके अनुभव और work performance के आधार पर बढ़ती जायेगी.

एक अकाउंटेंट के तौर पर शुरुआत में आपको कितनी सैलरी मिलेगी यह आपके अनुभव, आपकी काबिलियत, आपके शहर, सम्बंधित संस्थान आदि के आधार पर तय होती है. किन्तु शुरुआती दौर में एक अकाउंटेंट की कम से कम 15000/- रुपया मासिक आय तो हो ही जाती है.

और एक महत्वपूर्ण बात यदि आप एक अच्छे अकाउंटेंट के रूप में स्थापित हो जाते हैं तो इस क्षेत्र में आप काफी आगे तक जा सकते हैं, क्योंकि लेखांकन का क्षेत्र एक ऐसा क्षेत्र है जहाँ पेशेवरों की हमेशा डिमांड रहती है.

तो दोस्तों, यदि आप इस विषय में कुछ कहना चाहते हैं तो आप हमें comment कर सकते हैं. अंत में मैं आशा करता हूँ कि आपको यह लेख (Accountant kaise bane?) जरूर पसंद आयी होगी और यदि यह लेख पसंद आयी हो तो इसे like और share करना ना भूलें.

Lal Anant Nath Shahdeo

मैं इस हिंदी ब्लॉग का संस्थापक हूँ जहाँ मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी प्रस्तुत करता हूँ. मैं अपनी शिक्षा की बात करूँ तो मैंने Accounts Hons. (B.Com) किया हुआ है और मैं पेशे से एक Accountant भी रहा हूँ.

Spread your love:

10 thoughts on “Accountant kaise bane? अकाउंटेंट मीनिंग इन हिंदी”

  1. सर मेरे पास b com की डिग्री नही है क्या करूँ जरूरी है क्या

    Reply
    • जरुरी नहीं है चेतन जी कि आपको अकाउंटेंट का काम शुरू करने के लिए आपके पास b.com की डिग्री हो. अगर आप अकाउंटेंट का काम जानते हैं तो आपको ऐसे कई प्राइवेट फर्म या शॉप्स मिल जाएंगे जहाँ आप एक अकाउंटेंट के तौर पर काम करने का मौका पा सकते हैं.यदि आप काम नहीं जानते हैं और करना चाहते हैं तो आपको किसी सीनियर अकाउंटेंट के अंडर में रहकर काम सीखना चाहिए साथ ही आपको एकाउंटिंग की बुनियादी जानकारी प्राप्त करके इस विषय पर अपना बेस मजबूत करना होगा. लेकिन आप उसी फर्म या शॉप्स में काम करने के लिए योग्य हो सकते हैं जहाँ पर एक अकाउंटेंट की नियुक्ति हेतु b.com की डिग्री नहीं माँगा जा रहा हो.

      Reply
  2. मतलब सर b com के बगेर ऐसा तो नही होगा ना कि काम ही ना मिले मुझे । सर मेने 12 th क्लास मैथ्स से करी है और अभी tally का कोर्स किया है ।मेरा मार्गदर्शन करें सर प्लीज

    Reply
    • चेतन शर्मा जी ऐसा नहीं है की इस काम के लिए सभी जगह b.com की डिग्री मांगी जाती है. ऐसे कई निजी क्षेत्र हैं जहाँ आपको आपके हुनर के आधार पर काम प्राप्त हो सकता है. जैसा कि आपने कहा है कि आपने tally का कोर्स किया है लेकिन एक बात आपको यह भी समझ लेना चाहिए कि सिर्फ educational कोर्स आपको इस profession में उतरने के लिए काफी नहीं है आपको किसी सीनियर अकाउंटेंट के अंडर में कुछ दिन काम सीखना चाहिए. ऐसा मैं अपने व्यक्तिगत अनुभव से कह रहा हूँ.

      Reply
  3. सर CA फॉर्म मे कैसे काम करे और कहा मिलेगा
    Please Help.

    Reply
    • आपको इसके लिए किसी CA फर्म में व्यक्तिगत रूप से काम के लिए बात करना होगा। जब आप वहां काम करेंगे तो आपको मेहनताना के रूप में काफी कम पैसा दिया जायेगा लेकिन आप जब पूरी तरह से काम सीख जाएंगे तो आपके सामने पैसे कमाने के कई अवसर प्राप्त होंगे इसलिए शुरूआती दौर में केवल काम सीखने पर ही विशेष ध्यान दें.

      Reply
    • राजू जी,
      यदि आप एकाउंटिंग सेक्टर में CA के साथ experience चाहते हैं तो सबसे पहले आपको एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर tally सीखना होगा, यदि आप tally सीख लेते हैं तब आप किसी practising Chartered Accountant के अंडर ट्रैनिंग लेकर Accounting, Auditing, GST Return, और Income tax return फाइल करना सीख जाइयेगा.

      धन्यवाद.

      Reply

Leave a Comment