Animation kya hai? Animation course details in hindi

एनीमेशन क्या है? एनीमेशन में कैरियर कैसे बनायें?

जो लोग गेम खेलते हैं, मूवीज देखते हैं, कार्टून देखते हैं ऐसे सभी लोगों का परिचय ‘animation’ से हो चूका है. बच्चों का प्यारा मोटू – पतलू, छोटा भीम, कुंग फू पांडा, क्रॉनिकल्स ऑफ नार्निया, अवतार, माय फ्रेंड गणेशा, हैरी पॉटर इन सभी के पीछे जो हैरतंगेज करिश्मे और चमत्कार देखने को मिलते हैं वह animation का ही कमाल है.

Animation सिर्फ बच्चों को ही नहीं बल्कि बड़ों – बूढों को भी रोमांच से भर देता है. इसका इस्तेमाल comedy, horror, action, adventure जैसे मूवीज/सीरियलस बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. आपको बता दें की हम जो भी गेम्स खेलते हैं उसमे सबसे ज्यादा एनीमेशन का इस्तेमाल किया जाता है. बिना एनीमेशन का तो गेम्स बनाया ही नहीं जा सकता है.

इसके आलावा advertisement, presentation, designing आदि में भी एनीमेशन का प्रयोग किया जाता है.

दुनिया भर में आज का दौर एक ऐसा दौर है जहाँ पर एनीमेशन उद्योग तेज़ी से विकास कर रहा है. हमारे देश भारत की यदि बात करें तो यहाँ पर देर से प्रवेश के बावजूद यह सतत विकास की राह की ओर अग्रसर है. जैसे – जैसे इसका market बढ़ रहा है आज हजारों युवा इस क्षेत्र में रूचि दिखा रहे हैं.

यदि आप भी एनीमेशन के क्षेत्र में carrier बनाने के बारे में विचार कर रहे हैं तो हमारा आज का ये लेख ध्यान से पढ़ें. आज के लेख में हम इसके हर पहलू पर विस्तारपूर्वक चर्चा करेंगे.

एनीमेशन क्या है : परिभाषा

Animation एक ऐसी तकनीक है जिसमे किसी images/objects को जो हिल नहीं सकता उसे चलते हुए, बोलते हुए या कुछ करते हुए दिखाया जाता है. इसमें movement का भ्रम उत्पन्न करने के लिए तेजी से सिलसिलेवार प्रदर्शन किया जाता है. इस high speed प्रदर्शन के कारण ही images/objects reaction करती हुई देखी पड़ती है.

एनीमेशन एक ऐसी प्रक्रिया है जो रुकी हुई images/objects में जान डालने का काम करती है. एनीमेशन शब्द लैटिन भाषा के ‘एनिमा’ नामक शब्द से लिया गया है जिसका अर्थ होता है ‘आत्मा’. अर्थ की दृष्टि से देखें को ‘एनीमेशन’ शब्द एकदम सटीक है क्योंकि कोई निर्जीव वस्तु ही सही, यदि movement करते हुए दिखे, तो उस क्षण वह जीवित वस्तु ही प्रतीत होती है और हर वो चीज जो जीवित है उसमें आत्मा होती है.

आपने कभी किसी इंसान को आसमान में उड़ते हुए देखा है? नहीं देखा है, लेकिन किसी मूवी में जरूर देखा होगा, यह एनीमेशन का ही कमाल है.

एनीमेशन को कैरियर के रूप में क्यों चुनें

दोस्तों आपने बहुत सारे sites में पढ़ा होगा की एनीमेशन में बहुत सुनहरा अवसर है जो रोजगार के बहुत ही व्यापक अवसर प्रदान करता है. मैं इस बात से इनकार नहीं करता हूँ कि एनीमेशन उद्योग का विकास और इस क्षेत्र का सतत विस्तार जारी है. किन्तु यह भी ध्यान देनेवाली बात है की इस क्षेत्र में भी competition बरक़रार है.

आज का दौर में कोई भी चीज आसानी से नहीं मिल सकती है. Competition को मध्यनजर रखते हुए किसी भी क्षेत्र में सफल होने के लिए आपको कठिन परिश्रम, लगातार सिखने की जिज्ञाषा, कार्य के प्रति ईमानदारी और समय के साथ हो रहे परिवर्तन से सदा अवगत रहना (Update रहना) और उसके अनुरूप तैयार होना होगा.

एनीमेशन को कैरियर के रूप में क्यों चुनें? इसका जवाब है की इस उद्योग का लगातार वृद्धि जारी है जो हर साल animators को हजारों की संख्या में रोजगार प्रदान करती है. इसकी मांग बहुत सारे क्षेत्रों में है जैसे : Film & Television, Advertising Industry, Video Gaming, E – Learning, Cartoon Production, Online & Print News media आदि.

Animator बनने के लिए कौन – कौन से गुणों का होना आवश्यक है

यदि आप एक सफल animator बनना चाहते हैं तो आपके अन्दर रचनात्मकता (Creativity) होना आवश्यक है. इसके लिए आपकी रूचि drawing, sketching आदि कार्यों में होना चाहिए. यदि आपका दिमाग कल्पनाशील है और अपने कल्पना को आप कोई रूप देकर लोगों के सामने पेश करने की कला जानते हैं तो एनीमेशन के क्षेत्र में आप अपना carrier बना सकते हैं.

यदि आपको लगता है की आप कल्पनालोक में जाकर काल्पनिक परिदृश्य बना सकते हैं और उस बनाये गये दृश्य को विभिन्न भावों/रूपों  से लोगों के सामने पेश कर सकते है तो कुछ निम्नलिखित skills को अपनाकर इस क्षेत्र में जाने के लिए तैयार हो जाईये:

1 – रचनात्मकता

2 – ड्राइंग/स्केचिंग कौशल

3 – संचार कौशल

4 – चरित्र में आने की योग्यता

5 – कंप्यूटर/सॉफ्टवेर कौशल

6 – एकाग्रता और अवलोकन करने की क्षमता

शैक्षणिक योग्यता

Animation, Graphics और Multimedia में पाठ्यक्रम आमतौर पर पूर्णकालिक या अंशकालिक तौर पर पेश किये जाते हैं. डिप्लोमा या डिग्री कोर्स करने के लिए सामान्य पात्रता मानदंड आमतौर पर 10+2 या समकक्ष योग्यता होना चाहिए. कुछ संस्थानों में डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स करने के लिए 10वीं कक्षा उत्तीर्ण छात्र भी apply कर सकते हैं.

कुछ colleges में प्रवेश करने के लिए प्रवेश परीक्षा भी होती है इसके लिए आपको apply करना होगा.

Types of Course in Animation

मुख्य रूप से एनीमेशन कोर्स तीन मुख्य कोर्स format में उपलब्ध होते हैं:

1 – Bachelor’s Degree Course

2 – Diploma Course

3 – Certificate Course

अलग – अलग कॉलेजों में प्रवेश या योग्यता सम्बंधित मानदंड में भिन्नताएं हो सकती हैं जिसे आप उस कॉलेज की वेबसाइट में जाकर अपनी सुविधानुसार सर्च कर सकते हैं. भारत में एनीमेशन का कोर्स करानेवाली कुछ टॉप colleges के नाम निम्नलिखित हैं:

भारत में एनीमेशन कोर्स करानेवाली Colleges

  • Arena Multimedia
  • ZICA (Zee Institute of Creative Arts)
  • Global School of Animation
  • NID (National Institute of Design)
  • National Institute of Film and Fine Arts
  • Birla Institute of Technology

महत्वपूर्ण पारिभाषिक शब्द

Animation kya hai? Animation course details in hindi
Animation kya hai? Animation course details in hindi

3D Animator

एनीमेशन की शुरुआत प्रारंभ में बच्चों को मध्यनज़र रखकर बनाया जाता था. समयांतराल के साथ – साथ यह बड़ों और बूढों के बीच भी लोकप्रिय होती चली जा रही है. एनिमेटेड फिल्मों और टीवी सीरियलस में आज व्यस्क भी रूचि रखते हैं. फलस्वरूप उत्पादन स्टूडियो अधिक से अधिक इस तरह के एनिमेटेड फिल्म्स और टीवी सीरियलस का निर्माण कर रहे हैं. फलस्वरूप 3D Animators की मांग बढ़ रही है.

3D Animator का काम विभिन्न सॉफ्टवेयरों का इस्तेमाल करके एनीमेशन फिल्मों में मॉडल, texture, rig, और एनिमेट चरित्र (animate character) का निर्माण करना होता है. एक 3D Animator सॉफ्टवेर का प्रयोग करके आकर्षक videos बनाता है. इनके द्वारा बनाये गये videos का उपयोग कंप्यूटर गेम, विज्ञापन, पूर्ण लम्बाई वाली फिल्म, विभिन्न टेलीविज़न कार्यक्रम आदि के लिए किया जाता है.

आमतौर पर 3D Animators डायरेक्टरस, डेवलपर्स और डिज़ाइनर्स के साथ मिलकर काम करते हैं. ये लोग एक छायांकन रणनीति विकसित करते हैं और स्क्रीन पर तत्वों की आवाजाही को बनाने के लिए काम करते हैं. एक दुसरे की परस्पर सहयोग और अच्छी तरह से काम करने की क्षमता इनमें होना जरुरी है. ये लोग ही special effects create करने का काम करते हैं.

Game Designer

यदि आप एक शानदार carrier बनाने के लिए तैयार हैं तो आपके लिए गेमिंग उद्योग में प्रवेश लाभकारी सिद्ध होगा. ऐसा इसलिए क्योंकि मनोरंजन की दुनिया में यह सबसे तेजी से बढ़नेवाला उद्योग में से एक है.

एक सफल game designer बनने के लिए जरुरी है कि वह अपने विचार और अवधारणा को ऐसा रूप दे सके जो खिलाडियों को उनके बनाये गये गेम में संलग्न कर सके. जो सफल गेम डिज़ाइनर्स करता है. गेम डिज़ाइनर्स आमतौर पर एक टीम के हिस्से के रूप में काम करता है. गेम की अवधारणायें, चरित्र, सेटिंग, कहानी आदि कार्य इसमें शामिल हैं.

गेम डिज़ाइनर, artists, programmers के साथ मिलकर काम करते हैं जो गेम के लिए स्क्रिप्टिंग भाषा और कलात्मक दृष्टि बनाने के लिए आवश्यक है. एक गेम डिज़ाइनर computer skills और education का उपयोग करके अच्छी नौकरी पा सकते हैं.

मैं अपने लेख के जरिये पाठकों को एक महत्वपूर्ण बात बता देना चाहता हूँ हर काम हर किसी के लिए सही नहीं हो सकता है. हर किसी की योग्यतायें भिन्न होती हैं, जैसे कोई उच्च कोटि का लेखक एक अच्छा इंजिनियर नहीं हो सकता (हो सकता है अपने परिश्रम और लगन के दम पर वह इंजिनियर बन भी जाए पर वह अधिक सफल नहीं हो सकता.) इसीतरह यदि आप संचार कौशल, creativity आदि गुणों के प्रति आश्वस्त नहीं हैं तो गेमिंग का carrier एक अच्छा विकल्प नहीं हो सकता है.

और यदि आप गेमिंग से प्यार करते हैं, latest programming, कला और media production स्किल्स सिखने की इच्छा रखते हैं तो गेम डिज़ाइनर का विकल्प चुन सकते हैं. अधिकांश गेम डिज़ाइनर जॉब्स गेम आर्टिस्टस, गेम डिज़ाइनर या गेम प्रोग्रामर जैसे विषयों में से एक में आते हैं.

VFX Artist/CG Artist

यदि आपने बाहुबली मूवी देखा है तो आप इस मूवी के युद्ध के दृश्य को कैसे भूल सकते हैं. गेम ऑफ़ थ्रोन्स का ड्रैगन, ये सभी शानदार दृश्य जो आपने देखे हैं यह शानदार visual effects का परिणाम है. ऐसा माना जाता है कि फिल्म बाहुबली के रिलीज़ के साथ भारतीय VFX उद्योग में भारी वृद्धि हुई. Movies, विज्ञापन, videos ये सभी VFX पर निर्भर करता है. VFX कलाकार की मांग तब होती है जब फिल्म/विडियो या टी.वी. shows के ऐसे भाग होते हैं जिन्हें या तो शूट करना असंभव होता है या शूटिंग के लिए बोझिल होता है.

इस क्षेत्र में प्रशिक्षित पेशेवरों की उच्च मांग है. इस क्षेत्र में carrier बनाने के लिए visualisation और VFX softwares का गहराई से ज्ञान होना चाहिए. इस क्षेत्र में आने से पहले एक उम्मीदवार को लम्बे समय तक काम करने के लिए तैयार रहना चाहिए.

CG Artist (Computer Graphics Artist) का काम 2D या 3D assets निर्माण करना होता है जिसका उपयोग डिजिटल रूप से एनिमेटेड फिल्मों और विडियो गेम्स विकसित करने में किया जाता है.

Animation से जुडी कुछ अन्य जानकारी

एनीमेशन एक ऐसी दुनिया है जो पूरी तरह से कल्पनाओं और तकनीक पर आधारित है. यही कारण है कि इस क्षेत्र में कामयाबी पाने के लिए creativity और साथ ही साथ तकनीक का अच्छा ज्ञान होना आवश्यक है. यदि आप इस क्षेत्र में अपना भविष्य देखना चाहते हैं और इस क्षेत्र में आने के योग्य हैं तो यह एक अच्छा विकल्प है. वर्तमान दौर में एनीमेशन एक बड़ा इंडस्ट्री बन चूका है. दिनोदिन इसकी मांग बढती जा रही है इसकारण से इस क्षेत्र में जॉब्स की संभावना है.

आज के लेख Animation kya hai Animation course details in hindi में बस इतना ही फिर मिलेंगे एक नए टॉपिक के साथ. यदि आपको लगता है की आज का ये लेख आपके लिए उपयोगी है और आपको कुछ सिखने के लिए मिला तो इस लेख को शेयर करें, लाइक करें, कमेंट करें. धन्यबाद.

Leave a Reply

%d bloggers like this: