Anthropology in Hindi : जानिये मानवशास्त्र या नृविज्ञान क्या है?

क्या आप ऐसी पढ़ाई पढना चाहते हैं जिसे पढ़कर आप खुद को जान सकें साथ ही उस विषय को बेहतर career विकल्प के तौर पर भी चुन सकें तो Anthropology एक ऐसा ही career विकल्प है जिसमें jobs की अच्छी संभावनाएं है.

हमारा विकास अर्थात मानवों का विकास किस प्रकार हुआ इस बात को समझना बहुत सारे लोगों के लिए हमेशा से एक दिलचस्प विषय रहा है. बहुत सारे लोग यह जानना चाहते हैं कि हमारे आस – पास की चीजें कैसे अस्तित्व में आई? Anthropology एक ऐसा ही विषय है जो मानव जाति के सामाजिक, सांस्कृतिक और शारीरिक विकास से सम्बंधित है.

Indian Anthropological Association (IAA) भारत में professional anthropologists (पेशेवर मानवविज्ञानी) का प्रतिनिधि निकाय है जिसके संस्थापक अध्यक्ष (founder chairman) स्व. प्रोफेसर पी.सी. बिस्वास थे. 

यदि इसकी demand की बात करें को यह विज्ञान की एक ऐसी शाखा है जिसकी पढ़ाई पूरी दुनिया में होती है. आईये विस्तारपूर्वक जानते हैं कि Anthropology क्या है? इसमें career कैसे बनायें. (Anthropology in Hindi)

Anthropology क्या है? Anthropology in Hindi

Anthropology, इसे हिंदी में मानवशास्त्र या नृविज्ञान कहा जाता है. इस विषय के अंतर्गत मानव विकास के वर्तमान और अतीत का अध्ययन करना शामिल है. मनुष्यों का अध्ययन करते समय इसमें कई कारकों पर ध्यान केन्द्रित किया जाता है जैसे आर्थिक, सामाजिक, जैविक, सांस्कृतिक, राजनितिक आदि.

यह शब्द (Anthropology) दो ग्रीक शब्दों से लिया गया है anthropos अर्थात मानव और logos अर्थात अध्ययन. इसतरह इसका पूरा मतलब हुआ ‘मानवों का अध्यनन.’ एक मानवविज्ञानी का प्रश्न हो सकता है कि कैसे अलग – अलग समुदायों के अन्दर किसी का जन्म – मृत्यु और विवाह समारोह भिन्न होते हैं?

Anthropology के अध्ययन के दौरान मानव अस्तित्व के कई पहलुओं पर ध्यान केन्द्रित किया जाता है जैसे :

  • जैविक
  • सामाजिक
  • सांस्कृतिक
  • भाषाई पहलु
  • पुरातात्विक आदि

Anthropology की प्रमुख शाखाएं

Socio-cultural anthropology (सामाजिक-सांस्कृतिक नृविज्ञान)

Archaeology (प्रागैतिहासिक नृविज्ञान)

Biological Anthropology (जैविक नृविज्ञान)

Linguistic anthropology (भाषाई नृविज्ञान)

» See also : 10th ke baad kya kare? : Courses after 10th class in Hindi

Anthropology में रोजगार का अवसर

इस क्षेत्र का यदि आप चयन करते हैं तो अपने देश के साथ – साथ विदेशों में भी बेहतर करियर अवसर प्राप्त हो जायेंगे. इसके जरिये आप कई अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं से जुड़कर अपना भविष्य बना सकते हैं. चलिए जानते हैं इस कोर्स को करने के बाद आपको कहाँ मिलेगा रोजगार का अवसर –

  • Archaeology department
  • Education Sector
  • Non-Profit Organization
  • Publishing Company
  • Documentary Film Company
  • Government Agency

Anthropology Eligibility Criteria

Anthropology कोर्स को करने के लिए एक आवेदक को higher secondary (+2) या समकक्ष पास होना चाहिए. आपका चयन अलग – अलग विश्वविद्यालयों के मानदंडों के अनुसार ही हो सकता है. वैसे तो इस course को बारहवीं कक्षा में साइंस और आर्ट्स दोनों स्ट्रीम लेकर भी किया जा सकता है किन्तु एक मजबूत आधार के लिए science स्ट्रीम का विकल्प चुनना बेहतर होता है.

विज्ञान लेना इसलिए भी जरुरी है क्योंकि हमारे देश भारत के अधिकतर top colleges B.Sc. Anthropology provide कराते हैं और इसमें B.Sc. करने के लिए 12वीं में साइंस होना जरूरी है.

कौन – कौन से कोर्स कर सकते हैं

अंतिम बात

Anthropology के अन्दर मानव का विकास का अध्ययन किया जाता है जिसके अंतर्गत आप जान सकते हैं कि प्रारंभ से लेकर वर्तमान समय तक मानवों का विकास कैसे हुआ. इसके आलावा आप यहाँ संस्कृति, भाषा का प्रभाव, समाज आदि का भी अध्ययन करते हैं. इसमें आपको बेहतर job विकल्प मिलता है इसके साथ ही आप यूनेस्को और यूनिसेफ जैसे international organisation से भी जुड़ सकते हैं.

यह एक ऐसा विषय के रूप में जाना जाता है जो संस्कृति और इतिहास में अहम् योगदान देता है. हम अपने आस – पास के लोगों की मदद करने के लिए इसप्रकार के ज्ञान को लागू कर सकते हैं.

आशा करता हूँ कि आज का ये लेख Anthropology in Hindi आपको पसंद आई होगी. यदि इस विषय से सम्बंधित कोई प्रश्न आपके मन में हो तो आप comment box के जरिये पूछ सकते हैं. हमारी ओर से यथासंभव उचित जवाब देने का पूरा प्रयास किया जाएगा.

Lal Anant Nath Shahdeo

मैं Lal Anant Nath Shahdeo इस हिंदी ब्लॉग का founder हूँ. यह ब्लॉग बनाने का मेरा उद्देश्य हिंदी पाठकों तक हिंदी भाषा में महत्वपूर्ण जानकारी पहुँचाना है.

Leave a Reply