B.Com kya hai? B.Com का फुल फॉर्म क्या होता है?

B.Com kya hai? : पढाई करने के लिए हर छात्र की अपनी – अपनी रूचि होती है, और वे अपनी रूचि के अनुसार पढाई भी करना पसंद करता है. जैसे किसी को Science पसंद है तो किसी को Arts और कोई Commerce के क्षेत्र में उतर कर अपना करियर बनाना चाहता है.

पढाई करने के लिए कॉमर्स विकल्प का चयन करके अपना करियर बनाने के बारे में सोंच रहे छात्रों को मैं बताना चाहूंगा कि यह एक ऐसा पसंदीदा विषय है जिसमें कई बेहतर करियर विकल्प मौजूद हैं.

सबसे बड़ी बात यह है कि आज के बदलते दौर के में भी B.Com जैसे कोर्स को करने के लिए छात्रों के बीच रूचि देखी जा रही है. इसका मुख्य कारण यह भी है कि B.Com करने के बाद करियर बनाने के कई अच्छे option मौजूद हैं जैसे – Accountant, Junior Accountant, Business Analyst, Business Consultant, Accounts Manager, Tax Consultant इसके साथ – साथ आप चाहे तो आगे CA, CS, M.Com, MBA जैसे प्रतिष्ठित कोर्स भी कर सकते हैं.

चलिए विस्तारपूर्वक समझते हैं कि B.Com kya hai? B.Com में नामांकन के लिए आवश्यक योग्यता क्या है? B.Com में कौन – कौन से विषय होते हैं? B.Com के बाद करियर ऑप्शनस क्या -क्या हैं?

B.Com kya hai?

B.Com का पूर्ण रूप Bachelor of Commerce होता है. यह एक तीन वर्षीय स्नातक पाठ्यक्रम (undergraduate course) है और इस कोर्स को करने के लिए आपको 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण होना आवश्यक है.

इस कोर्स के अंतर्गत छात्रों को Accounting, Finance, Business, Income Tax, से सम्बंधित मुख्य विषयों को पढ़ाया जाता है. मुख्य विषय के साथ – साथ इस कोर्स को कर रहे छात्रों को वैकल्पिक विषयों में से भी चुनाव करने का ऑप्शन मौजूद रहता है.

B.Com तीन वर्षीय कोर्स है जिसमें 6 semesters होते हैं. इस डिग्री कार्यक्रम को पूरा करने वाले छात्र ‘ग्रेजुएट’ कहलाते हैं. यह कोर्स उन छात्रों के लिए उपयोगी है जो छात्र accounting, banking, finance, insurance, management, business आदि में करियर बनाना चाहते हैं.

B.Com कोर्स एक नज़र में

  • कोर्स का नाम : B.Com
  • B.Com का पूर्णरूप : Bachelor of Commerce
  • स्ट्रीम : Commerce (वाणिज्य)
  • कोर्स का स्तर : अंडरग्रेजुएट
  • कोर्स की अवधि : 3 वर्ष
  • परीक्षा का प्रकार : सेमेस्टर वाइज
  • सेमेस्टर : 6 सेमेस्टर
  • इस कोर्स को कौन कर सकता है : मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं पास करने वाले उम्मीदवार
  • शिक्षा का मोड : नियमित कोर्स के साथ – साथ distance लर्निंग मोड में भी उपलब्ध

B.Com में नामांकन के लिए आवश्यक योग्यता

B.Com में नामांकन के लिए निम्न योग्यता का होना आवश्यक है –

  • कॉमर्स स्ट्रीम से 12वीं पास होना चाहिए
  • अन्य स्ट्रीम से भी 12वीं पास उम्मीदवार B.Com में नामांकन के लिए योग्य हो सकते हैं किन्तु यह सम्बंधित विश्वविधालय/कॉलेज पर निर्भर करता है.
  • न्यूनतम 50% अंकों से 12वीं पास होना चाहिए
  • कुछ कॉलेज नामांकन के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करती है जिसे उत्तीर्ण करना आवश्यक है.

नोट : B.Com में नामांकन के लिए न्यूनतम अंक भिन्न – भिन्न कॉलेजों में अलग – अलग हो सकते हैं.

B.Com में कौन – कौन से विषय होते हैं?

B.Com कोर्स की अवधि तीन वर्षों की होती है जो 6 सेमेस्टर में बंटा हुआ है. इस कोर्स के अंतर्गत निम्न विषयों को सम्मिलित किया जाता है –

  • Financial Accounting
  • Business Law
  • Company Law
  • Cost and Management Accounting
  • Business Mathematics & Statistics
  • Taxation
  • Income Tax Law
  • Auditing & Assurance
  • Financial Management
  • Economics

B.Com के बाद करियर ऑप्शनस

इस बदलते दौर में छात्र इस बात को अवश्य ध्यान में रखें कि आज के समय में market demand के अनुसार B.Com की डिग्री पर्याप्त नहीं है. यह वास्तविक सच्चाई है. यदि संभव हो सकते तो B.Com की डिग्री प्राप्त करने के पश्चात तुरंत जॉब में न उतर कर छात्र आगे की पढाई जारी रख सकें तो बेहतर होगा.

अब एक महत्वपूर्ण सवाल यह है कि B.Com के बाद आखिर क्या करें? आप चाहें तो आगे की पढाई जारी रख सकते हैं या किसी कमर्शियल क्षेत्र से जुड़कर काम कर सकते हैं.

B.Com के बाद आप accounting, finance, वाणिज्य, बैंकिंग से जुड़े कई तरह के जॉब कर सकते हैं जैसे –

  • किसी संस्थान में अकाउंटेंट का जॉब
  • जूनियर अकाउंटेंट का जॉब
  • टैक्स कंसलटेंट
  • एकाउंट्स मैनेजर का जॉब
  • बिज़नेस कंसलटेंट
  • बीमा सलाहकार
  • बिजनेस
  • शिक्षण का क्षेत्र
  • सरकारी संस्थाओं में नियुक्ति हेतु प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकते हैं
B.Com के बाद कौन सा कोर्स कर सकते हैं?

जो छात्र B.Com के बाद अपनी पढाई जारी रखना चाहते हैं वे निम्न courses करने के योग्य हो जाते हैं –

अन्य महत्वपूर्ण बात

आपको commerce से सम्बंधित क्षेत्र पसंद है या आप accounts से सम्बंधित क्षेत्र में करियर बनाने को इच्छुक हैं तो आप B.Com कर सकते हैं. यदि आप किसी प्रतिष्ठित कॉलेज में इस कोर्स के लिए नामांकन चाहते हैं तो आप 12वीं कॉमर्स स्ट्रीम के साथ अच्छे अंकों के पास करने का प्रयास करें.

कुछ colleges में नामांकन के लिए आपको न्यूनतम कट-ऑफ मानदंड को पूरा करना हो सकता है तभी आपको नामांकन मिल सकेगा. देश में B.Com करने के लिए अच्छे colleges की कोई कमी नहीं है. आप किसी अच्छे कॉलेज में नामांकन लेकर इस कोर्स को कर सकते हैं और एक महत्वपूर्ण बात यह भी ध्यान रखें कि नियमित कोर्स को ही प्राथमिकता दें distance लर्निंग को नहीं क्योंकि जीवन में तरक्की के लिए डिग्री के साथ – साथ ज्ञान भी चाहिए.

दोस्तों अंत में उम्मीद करता हूँ कि आपको यह लेख जरूर पसंद आयी होगी और यदि यह लेख ‘B.Com kya hai?‘ पसंद आयी हो तो इसे like, share और कमेंट करना न भूलें.

Lal Anant Nath Shahdeo

मैं इस हिंदी ब्लॉग का संस्थापक हूँ जहाँ मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी प्रस्तुत करता हूँ. मैं अपनी शिक्षा की बात करूँ तो मैंने Accounts Hons. (B.Com) किया हुआ है और मैं पेशे से एक Accountant भी रहा हूँ.

Spread your love:

Leave a Comment