Buddha Purnima (बुद्ध पूर्णिमा) कब और क्यों मनाई जाती है? बुद्ध पूर्णिमा 2020

बुद्ध पूर्णिमा बौध धर्मं के मानने वाले लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण त्योहार है. हिन्दू धर्मं को मानने वाले लोगों के लिए भी यह एक पवित्र दिन माना जाता है. हिन्दू धर्मं में मान्यता है कि गौतम बुद्ध भगवान् विष्णु के नौवां अवतार हैं इसलिए इस दिन हिन्दू धर्मं को माननेवाले लोग भगवान् विष्णु की पूजा अर्चना करते हैं. 

बुद्ध पूर्णिमा बैसाख माह की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है इसीलिए इस त्योहार को बैसाख पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है. यह बौद्ध का सबसे बड़ा त्योहार है और इस दिन अलग – अलग देशों में भिन्न – भिन्न रीति रिवाजों से कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं. 

बिहार राज्य के गया जिला स्थित बोधगया बौद्ध और हिन्दू दोनों  धर्मावलंबियों के लिए एक पवित्र स्थान है. मान्यता है कि बोधगया में बोधिवृक्ष के नीचे ही भगवान् बुद्ध को ज्ञान (बुद्धत्व) की प्राप्ति हुई थी और वह दिन था वैशाख पूर्णिमा का. 

बैसाख पूर्णिमा का महत्व? (Buddha Purnima)

बैसाख पूर्णिमा वह शुभ तिथि है जिस दिन गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था. कहा जाता है कि इसी दिन बुद्ध का जन्म, ज्ञान की प्राप्ति और  देह त्याग तीनों बैसाख पूर्णिमा के दिन ही हुआ था. बैसाख पूर्णिमा के इन्ही प्रमुख घटनाओं के कारण इस दिन का विशेष महत्व है.  

गौतम बुद्ध किसी भी प्रकार के हिंसा के विरोधी थे इसलिए इस पवित्र दिन में बुद्ध में आस्था रखने वाले लोग मांसाहार का सेवन नहीं करते हैं. इस दिन दुनियाभर के लोग बोधगया आते हैं और प्रार्थनायें करते हैं.  

इस दिन मंदिरों और घरों में फल, फुल, अगरबत्ती, मोमबत्ती/दीपक जलाकर विशेष पूजा अर्चना की जाती है. 

बुद्ध पूर्णिमा (Buddha Purnima) शुभ मुहूर्त 2020

  • 7 मई (गुरूवार)

अंतिम बात 

गौतम बुद्ध अपनी निजी सुख सुविधाओं का त्याग करके इसलिए वन – वन भटकते रहे ताकि सभी नर – नारी का कल्याण हो सके. उन्हें अपनी मुक्ति की चिंता नहीं थी वो तो बस इस सत्य को जानना चाहते थे कि कैसे सभी का कल्याण हो सके. 

उन्हें बोधि वृक्ष के निचे ज्ञान की प्राप्ति हुई और वे सिद्धार्थ से गौतम बुद्ध कहलाये. उनके अनुसार मनुष्यों का सभी वेदनाओं का अंत का एकमात्र उपाय केवल निर्वाण प्राप्ति है.

आइये इस बुद्ध पूर्णिमा गौतम बुद्ध को करीब से जाने और उनके जीवन चरित से कुछ सीख प्राप्त करें – पढ़िए About Gautam Buddha in Hindi ; गौतम बुद्ध का जीवन परिचय.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: