Financial New Year’s resolutions

10 Financial New Year’s resolutions in Hindi 2023

Finance

नए साल में जरूर लें ये 10 संकल्प, होगी पैसों की बचत, आर्थिक रूप से होंगे मजबूत

10 Financial New Year’s resolutions in Hindi 2023: यदि आप पिछले वर्ष चूक गए हैं, तो इस नए वर्ष 2023 की शुरुआत एक नए वित्तीय लक्ष्य के साथ करें ताकि आप अपने वित्त में सुधार करके अपने वित्तीय लक्ष्य को प्राप्त कर सकें.

क्या आपने पिछले वर्ष में कोई व्यक्तिगत वित्तीय संकल्प लिया था? यदि आपने लिया था, तो क्या आपने अपने लक्ष्यों को प्राप्त किया या नहीं किया? आपको इस नए साल में अपने पिछले साल के वित्तीय स्कोरकार्ड की समीक्षा करने और इस साल इसमें सुधार करने की आवश्यकता है ताकि आपको वित्तीय मजबूती मिल सके.

हम में से कई लोग नए साल में कई तरह के संकल्प लेते हैं जैसे अपनी सेहत का ख्याल रखना, नशा छोड़ना, समय का सदुपयोग करना आदि, लेकिन हम किसी तरह का आर्थिक संकल्प नहीं लेते हैं और न ही हम इससे सम्बंधित कोई ठोस योजना बनाते हैं, जिसके परिणामस्वरूप हमें व्यर्थ धन की हानि उठानी पड़ती है. आपको personal finance

हमें जीवन निर्वहन करने के लिए जिस प्रकार पैसा कमाना जरुरी है उससे भी अधिक जरुरी उस कमाये गए पैसों को सोंच समझकर खर्च करना और पैसे बचाकर सही जगह निवेश करना है. Financial planning के बिना, लोग अक्सर अनावश्यक रूप से अपना पैसा खो देते हैं या जल्दीबाजी में किसी निम्न स्तरीय विकल्पों में निवेश कर देते हैं.

आपके साथ भी कहीं ऐसा होता है तो अब इसे बदलने का समय आ गया है. आइये 10 वित्तीय नए साल के संकल्प के बारे में जानते हैं जिसे आप खुद के लिए निर्धारित करके उसे हासिल कर सकते हैं –

10 Financial New Year’s resolutions in Hindi

  1. पैसे कमाने के तरीके खोजें
  2. कर्ज में कमी करें
  3. अनावश्यक खरीदारी में लगाम लगायें
  4. अपने खर्च करने की आदतों का आकलन करें और बचत करना सीखें
  5. बजट बनायें
  6. वित्तीय लक्ष्यों की सूची बनाएं
  7. इमरजेंसी फंड बनाएं
  8. अपने परिवार को सुरक्षित करें
  9. योजना बनाकर निवेश करें
  10. वित्तीय ज्ञान पर खुद को शिक्षित करें

1) पैसे कमाने के तरीके खोजें

जब आपकी आय अच्छी होती है तो आप समाज में बेहतर तरीके से जी सकते हैं. जब आपकी आय बढ़ जाती है तो आप अपने और अपने परिवारवालों की जरूरतों को पूरा करने में सक्षम हो पाते हैं. आपको कर्ज नहीं लेना पड़ता है या लिए गए कर्ज को आप आसानी से चूका पाते हैं.

अपनी आय के स्रोतों को बढ़ाने के विभिन्न तरीके खोजने से, आप पूरी तरह से एक आय स्रोत पर निर्भर नहीं होते हैं फलस्वरूप आप अधिक पैसा बना पाते हैं, भविष्य के वित्तीय लक्षयों जैसे बच्चों की उच्च शिक्षा, उनकी शादी आदि को पूरा कर सकते हैं.

चाहे आप नौकरी करते हों किन्तु आपको अपनी आय बढ़ाने के लिए Passive Income अर्जित करने के तरीकों के बारे में सोंचना चाहिए जैसे –

  • आप Real estate में निवेश कर सकते हैं
  • आप अपना घर किराए पर दें सकते हैं
  • डिजिटल उत्पाद बेच सकते हैं
  • बैंक/पोस्ट ऑफिस निवेश माध्यम से ब्याज कमा सकते हैं
  • विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ ले सकते हैं

2) कर्ज में कमी करें

आज हमारे पास EMI सुविधा है अर्थात ‘अभी खरीदें, बाद में भुगतान करें’. इस सुविधा के आ जाने से हम में से ज्यादातर लोग अनावश्यक कर्ज में डूबे रहते हैं और अपनी कमाई का ज्यादातर हिस्सा कर्ज चुकाने में खर्च कर देते हैं.

ईएमआई पर आप सस्ती महंगी सभी प्रकार की खरीदारी जैसे गाडी, घर इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, कपड़े, फर्नीचर आदि सब कुछ खरीद सकते हैं लेकिन जरा सोंचिये क्या आप अपनी कमाई का अधिकतर हिस्सा EMI चुकाने में गवाना चाहते हैं?

आप आवश्यकता अनुसार EMI सुविधा ले सकते हैं किन्तु इस वर्ष यह सुनिश्चित करें की आप अनावश्यक कर्ज में जरूर कमी करेंगे और बचत करना सीखेंगे. वास्तव में अनावश्यक कर्ज आपके व्यक्तिगत वित्त में नुकसान का स्रोत हो सकता है.

3) अनावश्यक खरीदारी में लगाम लगायें

वर्तमान दौर में आप अपने फ़ोन के स्क्रीन से ही मनचाहा चीजें खरीद सकते हैं और इसके कारण अधिकांश लोगों का पैसा गैर जरुरी चीजों को खरीदने में खर्च हो जाता है. लेकिन इस नए साल में आप यह तय करें कि मैं इस वर्ष अनावश्यक खरीदारी में पैसे खर्च करने की आदतों के बारे में जागरूक रहूँगा.

आपको shopping addict नहीं होना चाहिए और अपनी खरीदारी में नियंत्रण रखना चाहिए. ध्यान रहे, ऐसी आदतों में नियंत्रण ला के आप काफी पैसा बचा सकते हैं.

4) अपने खर्च करने की आदतों का आकलन करें और बचत करें

क्या आपके पास हिसाब होता है कि आप अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में किसी भी दिन अपना पैसा कैसे खर्च करते हैं? क्या आप हर सुबह कॉफी या चाय खरीदकर पीते हैं? आप सप्ताह में कितनी बार बाहर खाना खाने जाते हैं? क्या आप उन सेवाओं के लिए भी भुगतान करते हैं जिसका उपयोग आप कभी नहीं करते?

5) बजट बनायें

इस साल जब आप कोई वित्तीय लक्ष्य हासिल करना चाहते हैं तो उसे हासिल करने के लिए बजट तैयार करें. दरअसल, आपका बजट यह तय करता है कि आप हर महीने कितना कमाते हैं, आप घर के खर्च, बच्चों की पढ़ाई, कर्ज चुकाने, मनोरंजन आदि पर कितना खर्च करते हैं.

आपको अपना बजट ऐसा बनाना होगा कि खर्चों में कटौती करते हुए हर महीने इतना पैसा बचाएं कि आपका वित्तीय लक्ष्य पूरा हो सके. दरअसल जब आप बजट बनाकर योजनाबद्ध तरीके से काम करते हैं तो आप अपने पैसों पर अच्छी नजर रख पाते हैं.

6) वित्तीय लक्ष्यों की सूची बनाएं

आप किसी भी चीज को तभी हासिल कर पायेंगे जब आपके पास कोई स्पष्ट लक्ष्य होगा. पिछले वर्ष के चूक से इस नये वर्ष में सबक लेने की आवशयकता है. इस नए साल के लिए अपने वित्तीय लक्ष्यों की एक सूची बना लें और उसे हासिल करने के लिए योजना बनाकर कार्य करें.

तो इस नए साल के लिए अपने वित्तीय लक्ष्यों की एक सूची बना लें. जब आप वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करते हैं, तो आपके पास एक स्पष्ट तस्वीर होती है जिससे आपके लिए काम करना आसान हो जाता है.

7) इमरजेंसी फंड बनाएं

अपने जीवन में अप्रत्याशित क्षणों का सामना करने के लिए एक आपातकालीन कोष आवश्यक है. आपके पास एक फंड होना चाहिए जिससे आप आपात स्थिति से निपट सकें. आपातकालीन स्थिति किसी के भी जीवन में किसी भी समय हो सकती है जैसे चिकित्सा आपात स्थिति, अचानक नौकरी छूट जाना, गाडी की मरम्मत, घर की मरम्मत आदि.

ऐसी परिस्थितियों से निपटने के लिए आप अपनी आमदनी का एक हिस्सा अलग करके एक इमरजेंसी फंड बना सकते हैं और अप्रत्याशित परिस्थितियों का प्रबंधन आसानी से कर सकते हैं.

8) अपने परिवार को सुरक्षित करें

आप सोंच रहे होंगे कि आखिर अपने परिवार को कैसे सुरक्षित किया जा सकता है. आपको बता दें कि बीमा योजना एक ऐसा तरीका है जिससे आप अपने परिवार के लोगों के भविष्य को सुरक्षित कर सकते हैं. बीमा योजनाएँ कई प्रकार की होती हैं जिसे आप अपनी जरुरत के हिसाब से ले सकते हैं किन्तु इन सभी में जीवन बीमा सबसे महत्वपूर्ण होता है.

9) योजना बनाकर निवेश करें

अपनी मेहनत से कमाई गयी पैसों को निवेश करने से पहले योजना बनाना अत्यंत बुद्धिमानी है. इसके लिए बहुत अधिक शोध की आवश्यकता होती है. निवेश से सम्बंधित अपनी समझ को बढ़ाने के लिए आप वित्तीय सलाहकार से परामर्श कर सकते हैं.

निवेश योजना बनाते समय कितना आप कितना जोखिम उठाने को तैयार हैं यह समझना आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है. आर्थिक प्रगति के लिए निवेश अवश्य करें किन्तु योजनाबद्ध तरीके से सोंच-समझकर. आपको बता दें कि निवेश मुद्रास्फीति को मात देने और आपकी क्रय शक्ति को बढ़ाने का एक बेहतरीन तरीका हो सकता है.

10) वित्तीय ज्ञान पर खुद को शिक्षित करें

इस साल आपको जो सबसे महत्वपूर्ण काम करना है, वह है खुद को वित्तीय ज्ञान के बारे में शिक्षित करना, यानी आपको इस साल अपनी वित्तीय साक्षरता का विस्तार करना चाहिए जिसका फायदा आपको आनेवाला समय में होगा. आप अपने पैसों का सही प्रबंधन तभी कर पाएंगे जब आपको इसकी समझ होगी.

कोई भी व्यक्ति आर्थिक योजना बनाकर आर्थिक प्रगति कर सकता है. आपके पास खुद को वित्तीय ज्ञान के साथ शिक्षित करने के कई तरीके हैं, वित्त से संबंधित किताबें पढ़ें, इससे संबंधित समाचार देखें, वित्तीय सलाहकारों से संपर्क करें, इंटरनेट की मदद लें.

ध्यान रहे कि अगर आपके पास धन प्रबंधन, कर्ज, निवेश, बजट, रिटायरमेंट, बीमा आदि की पर्याप्त जानकारी है तो आप आसानी से वित्तीय फैसले ले सकेंगे.

आइये, संक्षेप में समझते हैं कि फाइनेंसियल प्लानिंग क्या होती है?

Final words, फाइनेंसियल प्लानिंग क्या होती है?

Financial plan अर्थात वित्तीय योजना जिसके अंतर्गत कोई व्यक्ति अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए योजनाबद्ध तरीके से अपने धन का प्रबंधन करता है. इसे वह स्वयं अथवा किसी पेशेवर की मदद से कर सकता है.

आइए इस नए साल में अपने वित्त को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने के लिए एक वित्तीय योजना के साथ शुरुआत करें. समझदारी से खर्च करें और बचत करना सीखें. एक बजट तैयार करें और उसी के अनुसार काम करें. व्यक्तिगत वित्त के महत्व को समझें.

अगर आप जरूरी खर्चों के बाद अपनी मेहनत की कमाई का कुछ हिस्सा बचा पाते हैं तो यह आपके लिए बड़ी आर्थिक उपलब्धि है. लेकिन रुकिए, सिर्फ बचत करना ही काफी नहीं है. जब आप बचाए हुए पैसों को स्मार्ट तरीके से इन्वेस्ट करना सीख जाते हैं तो यहीं से आप अमीर बनने की कला सीखते हैं.

सबसे पहले, आपको अपने वित्त को समझने की आवश्यकता है और उसके लिए आपको वित्त से संबंधित कुछ बुनियादी प्रश्नों के उत्तर खोजने चाहिए जैसे –

  • क्या आप जानते हैं कि आपका मासिक बजट क्या है?
  • आपके आवश्यक खर्चें क्या – क्या हैं?
  • आप अनावश्यक रूप से प्रत्येक महीने कितना खर्च कर देते हैं?
  • आपके आय और खर्च में कितना अंतर है?
  • अपने भविष्य के वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए आपके पास क्या योजना है?

अपने स्वयं के वित्त को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने के लिए, आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करना चाहिए –

  • Financial plan बनायें
  • Saving करें
  • सोंच – समझकर खर्च करें
  • बजट तैयार करें
  • और सबसे महत्वपूर्ण बचाये गए धन को निवेश करना सीखें

मुझे पता है कि आप बहुत मेहनत करके पैसा कमाते हैं इसलिए सुनिश्चित करें कि आपका पैसा ठीक से खर्च हो रहा है, क्या आप कमाये गए पैसे को बचाने और बचाये गए धन को निवेश करने के बारे में सोंचते हैं या नहीं?

यहां मैं आपको एक बात और बताना चाहता हूं कि अगर आप अपने निवेश में कोई रिस्क नहीं लेना चाहते हैं तो आपके पास फिक्स्ड डिपॉजिट (FD), रिकरिंग डिपॉजिट (RD) और कई तरह के पोस्ट ऑफिस इन्वेस्टमेंट स्कीम के विकल्प हैं. आप इनमें से किसी भी विकल्प में सुरक्षित निवेश कर मुनाफा कमा सकते हैं.

और अगर आपको बाजार की समझ है और आप निवेश में जोखिम उठाने में भी सक्षम हैं तो अपनी जोखिम लेने की क्षमता के अनुसार आप म्यूचुअल फंड या शेयर बाजार में निवेश कर अधिक लाभ कमा सकते हैं.

अगर आपको बाजार की समझ नहीं है तो पहले शेयर बाजार की बारीकियां सीख लें और उसके बाद ही यहां निवेश करें क्योंकि यहां जोखिम है और आपकी जमा पूंजी भी डूब सकती है. मेरी आपको सलाह है कि किसी भी विकल्प में निवेश करने से पहले उसमें शामिल जोखिम, मिलने वाले रिटर्न, परिपक्वता अवधि आदि के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लें या किसी पेशेवर से राय ले लें.

Lal Anant Nath Shahdeo

मैं इस हिंदी ब्लॉग का संस्थापक हूँ जहाँ मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी प्रस्तुत करता हूँ. मैं अपनी शिक्षा की बात करूँ तो मैंने Accounts Hons. (B.Com) किया हुआ है और मैं पेशे से एक Accountant भी रहा हूँ.

https://www.aryavartatalk.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *