how to open security agency in hindi

प्राइवेट सिक्यूरिटी एजेंसी कैसे शुरू करें? How to open security agency in Hindi

Business Interesting Story

प्राइवेट सिक्यूरिटी एजेंसी कैसे शुरू करें? How to open security agency in Hindi : आजकल private security agencies देश के बड़े रोजगार उद्योग के रूप में उभर रही है. जिस तरह सुरक्षा की मांग बढ़ रही है वक़्त के साथ – साथ यह उद्योग और भी बढ़ेगी. आज देशभर में लाखों लोग इस क्षेत्र से जुड़कर रोजगार पा रहे हैं. लगभग सभी क्षेत्रो सरकारी या गैर सरकारी संस्थानों में आपको  सुरक्षा प्रहरी देखने को मिल जायेंगे. आज के पोस्ट में हम विस्तारपूर्वक जानेंगे की प्राइवेट सिक्यूरिटी एजेंसी कैसे शुरू करें?

जिन जगहों पर जोखिम ज्यादा होता है वैसी हर जगहों के लिए सुरक्षा अहम् होती है. बढ़ते समय के साथ – साथ अर्थजगत का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है, फलस्वरूप सुरक्षा प्रहरियों की मांग दिनोदिन बढती जा रही है. आज के समय में School, Hospital, Clinic, Restaurant, Factory, Mall, Multiplex, Residence, Company, Shop, Park, Bank, ATM इत्यादि जगहों पर आपको आसानी से सुरक्षा प्रहरी देखने को मिल जायेंगे.

प्राइवेट सिक्यूरिटी एजेंसी कैसे शुरू करें?

क्या आपने कभी यह सोंचा है की निजी सुरक्षा एजेंसी कैसे शुरू किया जाता है? यदि आप भी कहीं इस तरह के उद्योग से जुड़ना चाहते हैं तो आज का लेख आपके लिए बहुत उपयोगी होगी. आज मैं आपको हर वो स्टेप्स से अवगत कराऊंगा जो एक निजी सुरक्षा एजेंसी शुरू करने के लिए जरुरी है.

यह एक ऐसा business है जहाँ investment के अनुपात में ज्यादा profit होता है. जो लोग ex – serviceman हैं उनके लिए यह एक perfect business है क्योंकि उन्हें इस क्षेत्र का पहले से अनुभव होता है. कोई जरुरी नहीं की आप बड़ी एजेंसी ही खोलें इसे छोटे पैमाने और कम लागत से भी शुरू किया जाता है.

अगर हम risk की बात करें तो इसमें न के बराबर risk होता है. कागजी कारवाई और क़ानूनी झंझट भी इस व्यवसाय में कम होता है. Security personnel की मांग बड़े शहरों के साथ – साथ छोटे शहरों में भी बढ़ रही है.

Security agency खोलने के लिए बहुत लम्बा process नहीं है. हाँ थोड़े खर्चे और भागदौड़ के लिए आपको तैयार रहना होगा. आईये step by step जानते हैं की पूरी प्रक्रिया क्या है एक security agency खोलने के लिए.  

Step 1 : एक फर्म बनायें

Security agency start करने के लिए सबसे पहले आपको एक फर्म/कंपनी का निर्माण करना होगा. फर्म start करने से पहले आपको यह जानना आवश्यक है कि यह कितने प्रकार की होती है. फर्म/कंपनी मुख्यतः चार प्रकार से register की जा सकती है. कंपनी का चौथा प्रकार public limited company होती है जिसकी चर्चा आज के लेख में हम नहीं करेंगे.

  • Proprietorship firm
  • Partnership firm
  • Private limited firm

यदि आप security agency के अकेले owner रहना चाहते हैं तो आपको proprietorship firm के तहत register करना होगा. इस तरह का फर्म शुरू करने के लिए बहुत ज्यादा documentation या कागजी कारावाई की जरुरत नहीं पड़ती है. प्रतिवर्ष होनेवाली documentation Partnership firm और Private limited firm की तुलना में कम होती है. Proprietorship firm start करना अपेक्षाकृत ज्यादा आसान होता है.

Partnership firm ऐसी फर्म होती है जिसे आपको किसी partner के साथ मिलकर खोलनी पड़ती है. ये partner आपका दोस्त, पत्नी, भाई या अन्य कोई हो सकता है. इस तरह के फर्म के तहत रजिस्टर करने से Proprietorship firm की तुलना में ज्यादा documentation की जरुरत होती है.

Private limited firm बड़े स्तर पर खोली जाती है. इस तरह के फर्म के तहत रजिस्टर करने पर प्रतिवर्ष होनेवाली documentation काफी बढ़ जाती है. यदि आप शुरुआत करना चाहते हैं तो मेरा सुझाव है की शुरुआत proprietorship firm से करें बाद में आप इसे partnership/private limited firm में बदल सकते हैं.

फर्म की शुरुआत या इस काम के लिए आप chartered accountant (CA) की मदद ले सकते हैं. CA फर्म की registration करने में तथा इस कार्य को शुरू करने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव देंगे.  

Step 2 : रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

Security agency शुरू करने के लिए आपको निम्नलिखित  रजिस्ट्रेशन कराना जरुरी है.

GST Registration

सिक्यूरिटी एजेंसी service provide करती है और यह सर्विस टैक्स के दायरे में आती है. ऐसी एजेंसी को चलाने के लिए GST (Goods and Services Tax) registration कराना आवश्यक है. किसी चार्टर्ड अकाउंटेंट की मदद से आप GST registration के लिए apply कर सकते हैं.

EPF Registration

नियमों के मुताबिक़ किसी भी कंपनी में यदि employee की संख्या 20 से अधिक है तो उस कंपनी को EPF (Employee Provident Fund) registration कराना अनिवार्य होता है. आप भी इसतरह का एजेंसी खोल रहे हैं तो आपको भी EPF Registration कराना होगा. EPF को हिंदी में कर्मचारी भविष्य निधि के नाम से जाना जाता है. एक बात याद रहे कि यह हर कंपनी के लिए अनिवार्य रूप से लागू होता है.

EPF सरकारी और गैर सरकारी सभी कर्मचारियों के लिए अनिवार्य है. इसपर जो अंशदान कटता है उसपर सिर्फ कर्मचारी का हक़ होता है.

ESIC Registration

यदि कार्यरत कर्मचारी की संख्या 10 या इससे अधिक है तो ESIC (Employees State Insurance Corporation) के लिए रजिस्ट्रेशन कराना आवश्यक है. इसे हिंदी में कर्मचारी राज्य बीमा निगम के नाम से जाना जाता है. यह एक insurance scheme है जो कार्यरत कर्मचारी के स्वास्थय की बीमा कराने की व्यवस्था है.

यह कर्मचारी राज्य बीमा निगम द्वारा ESI Act 1948 के दिशानिर्देशों के अनुसार manage किया जाता है. यह भारत सरकार के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के अधीनस्थ है. 

Step 3 : Security agency के लिए licence 

Security agency चलाने के लिए PSARA (Private Security Agencies Regulation Act) licence का होना अनिवार्य है. बगैर इसके प्राइवेट सिक्यूरिटी एजेंसी नहीं चलायी जा सकती है .Security agency के लिए यह licence Private Security Agencies Regulation Act 2005 के तहत जारी किया जाता है. इसे हिंदी में निजी सुरक्षा एजेंसी विनियमन अधिनियम के नाम से जाना जाता है.

2005 एक्ट में सुरक्षा एजेंसी से सम्बंधित मानदंड दिए गये हैं.

PSARA के अनुसार सभी निजी सुरक्षा एजेंसीयों को सुरक्षा गार्ड की निगरानी हेतु एक पर्यवेक्षक नियुक्त करना आवश्यक है. इस अधिनियम के तहत सुरक्षा प्रहरियों योग्यता, अयोग्यता, वर्दी, स्वास्थय आदि के बारे में दिशानिर्देश दिया गया है.

PSARA Licence के लिए आवश्यक शर्तें

  • Registration documents of the business
  • PAN allocation (पैन कार्ड की कॉपी)
  • GST Registration
  • Registration under Contract Labor Act
  • ESI registration
  • PF registration
  • Affidavit as per PSARA Act
  • Logo for security agency
  • Batch for security agency
  • Uniform Pattern (यूनिफार्म में सिक्यूरिटी गार्ड का फोटो)
  • Police Verification report/ Character Certificate.
  • Applicant का फोटो
  • रजिस्टर्ड ऑफिस का प्रूफ/Rent agreement/Electricity bill/Municipal Tax Receipt
  • ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट/ NOC from Training Ground
  • Latest audited balance sheet and Profit and loss account.
  • ITR (Income Tax Return) etc.

Licence प्राप्त करने के लिए आवेदक को किसी भी आपराधिक मामलों में दोषी नहीं होना चाहिए. इसके लिए local police verification किया जाता है. PSARA Licence प्राप्त करने के लिए forms तथा documents स्टेट कंट्रोलिंग अथॉरिटी को submit करना पड़ता है.

सारी documentation पूरी हो जाने के बाद 90 दिनों का समय लगता है.

Security agency licence की validity पाँच वर्षों की होती है इसके बाद इसे renew करना पड़ता है.

Fee for PSARA Licence

यदि निजी सुरक्षा एजेंसी किसी राज्य के एक जिले में काम कर रही है तो पांच हजार रुपये। यदि निजी सुरक्षा एजेंसी एक राज्य के पांच से अधिक जिलों में काम कर रही है, तो दस हजार रुपये और अगर पुरे राज्य में operate करना चाहती है तो पच्चीस हजार रुपये।

Security agency licence के लिए योग्यता

  • एक भारतीय नागरिक/कंपनी ही सिक्यूरिटी एजेंसी लाइसेंस लेने के पात्र है.
  • आवेदक को किसी अदालात में दोषी नहीं ठहराया गया हो.
  • राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए ख़तरा उत्पन्न करनेवाली या किसी भी कानून के तहत प्रतिबंधित संगठनों के साथ आवेदक का किसी भी प्रकार से संबंध नहीं होना चाहिए.
  • आवेदक को केंद्र/राज्य सरकार से किसी भी दुर्व्यवहार के कारण किसी भी सरकारी सेवा से ख़ारिज नहीं किया गया होना चाहिए.
Business की शुरुआत

आमतौर पर इस प्रकार के व्यवसाय के लिए सभी राज्यों के नियम लगभग एक समान हैं. पुरुष सुरक्षाकर्मी की minimum height 160 cm और महिला सुरक्षाकर्मी की minimum height 150 cm होना चाहिए. सीना 80 cm जो 04 cm फूलना चाहिए.

महिलाओं के लिए सीना माप की कोई नियुन्तम आवश्यकता नहीं है. सुरक्षाकर्मी को  6 मिनट में एक किलोमीटर दौड़ सकने की क्षमता हो. नेत्र दृष्टि – दूर दृष्टि 6/6 निकट दृष्टि 0.6/0.6 चश्मे अथवा बिना चश्मे का. श्रवण दोष से मुक्त होना चाहिए. सिक्यूरिटी गार्ड्स की भर्ती करते समय आपको यह देखना होगा की वह भर्ती के पात्र है या नहीं.

सुरक्षा गार्ड्स की भर्ती करने के लिए सभी जगहों के लिए शारीरिक योग्यताओं से जुड़े एकसमान नियम नहीं हैं कुछ जगहों पर भर्ती के दौरान इतना ज्यादा physical test नहीं लिया जाता है जबकि कुछ जगहों पर यह जरुरी है.

गार्ड्स की ट्रेनिंग देना है यह आपको तय करना होगा तथा उनके लिए फुल यूनिफार्म का इन्तिजाम भी आप ही को करना होगा. यूनिफार्म सम्बंधित जानकारी आपको रजिस्ट्रेशन के वक़्त देनी पड़ती है.

आपको नियुक्त किये जानेवाले कर्मियों के लिए ट्रेनिंग सेंटर से उसकी ट्रेनिंग की सुविधा प्रदान करनी होगी. इसतरह से आप सिक्यूरिटी एजेंसी की व्य्व्पार की शुरुआत कर सकते हैं. कई मौकों पर आप शुरुआत में किसी बड़ी एजेंसी के साथ मिलकर भी काम कर सकते हैं.

प्रत्येक निजी सुरक्षा एजेंसी, किसी व्यक्ति को निजी सुरक्षा गार्ड के रूप में नियुक्त करते समय, उस व्यक्ति को वरीयता दे सकती है, जिसने निम्नलिखित में से किसी एक या एक से अधिक सदस्य के रूप में सेवा की हो, जैसे कि सेना, नौसेना, एयरफोर्स, संघ के किसी भी अन्य सशस्त्र बल और होमगार्ड।

निष्कर्ष : हमारी राय

इस व्यवसाय को करने के लिए थोडा खर्चा तो आता है किन्तु इसमें घाटा होने की संभावना कम होती है. यह एक ऐसा व्यापार है जो आपकी एजेंसी की quality पर निर्भर करता है. एक बाद हमेशा याद रखें यदि आप इस व्यवसाय में आगे बढ़ना चाहते है तो कभी भी इसकी quality को निचे गिरने नहीं दें.

जब किसी संगठन में आपके द्वारा नियुक्त किये गये गार्ड्स फुल यूनिफार्म में, अच्छी तरह से अनुशासित तरीका से काम करते हैं तो इससे आपकी पहचान बढती है. इस ओर विशेष ध्यान देने की जरुरत है.

Head office management की ओर भी विशेष ध्यान देने की जरुरत है. यह एक ऐसा केंद्र होता है जहाँ से आपकी पूरी व्यवसाय संचालित होती है. जैसे – जैसे आपके व्यवसाय में विस्तार होगा वैसे – वैसे Head office का कार्य बढ़ता जाएगा इसलिए जरुरत और विभाग के अनुसार यहाँ पर कुशल कर्मियों को नियुक्त करने की जरुरत है. यहाँ पर विभिन्न प्रकार के financial कार्य तथा रिकार्ड्स रखे जाते हैं.

PSARA licence से सम्बंधित और अधिक जानकारी के लिए आप इसके वेबसाइट psara.gov.in में जा सकते हैं.

अंत में मैं आपसे आशा करता हूँ कि आपको यह जानकारी प्राइवेट सिक्यूरिटी एजेंसी कैसे शुरू करें? How to open security agency in Hindi जरूर पसंद आयी होगी और यदि पसंद आयी हो तो like, share और comment करना ना भूलें.

Lal Anant Nath Shahdeo

मैं इस हिंदी ब्लॉग का संस्थापक हूँ जहाँ मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी प्रस्तुत करता हूँ. मैं अपनी शिक्षा की बात करूँ तो मैंने Accounts Hons. (B.Com) किया हुआ है और मैं पेशे से एक Accountant भी रहा हूँ.

https://www.aryavartatalk.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *