Ice cream making process in Hindi : आइसक्रीम बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें?

Ice cream making process in Hindi – आइसक्रीम मेकिंग व्यवसाय उनलोगों के लिए अच्छा व्यवसायिक विकल्प है जो लोग low investment (कम निवेश) करके अच्छी कमाई करना चाहते हैं. यह एक ऐसा धंधा है यदि चल गया तो अच्छा मुनाफा देनेवाला साबित हो सकता है. कोई भी व्यक्ति इस व्यवसाय को छोटे स्तर पर शुरू कर सकता है.

Ice cream बच्चों के बीच लोकप्रिय तो है ही किन्तु वर्तमान जीवनशैली में इस खाद्य पदार्थ को सभी उम्र के लोग खाना पसंद करते हैं खासकर युवा – वर्ग. विभिन्न समारोह, शादी, पार्टी आदि में आइसक्रीम की special demand होती है. घर – घर refrigerator के उपयोग होने के कारण भी इसकी मांग और बढ़ गयी है.

Ice cream एक dairy product है और आमतौर पर हम सभी जानते हैं कि इसकी demand गर्मियों में ज्यादा होती है किन्तु सर्दी के मौसम में भी इसकी मांग बनी रहती है. हालाँकि गर्मी के दिनों के अपेक्षा शर्दियों में इसकी मांग कम होती है.

चलिए विस्तारपूर्वक जानते हैं कि आइसक्रीम मेकिंग प्रोसेस क्या है? कैसे आप इस व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं.

Ice-cream making machine

आइसक्रीम बनाने के लिए कई प्रकार के मशीनों की आवशयकता होती है इन्ही मशीनों का उपयोग करके आप आइसक्रीम बना सकते हैं. आप अपने बजट के हिसाब से मशीनें खरीद सकते हैं. बाज़ार में आजकल आपको कई तरह के automatic मशीनें भी मिल जाएगी जिन मशीनों की मदद से आप कम समय में ज्यादा उत्पादन कर सकते हैं.

Indiamart.com जैसी कई websites हैं जहाँ पर आप Ice-cream making machines के बारे में सर्च कर सकते हैं. आपको अपने निर्माण क्षेत्र में पानी का उचित स्रोत और निर्बाध बिजली की उपलब्धता भी सुनिश्चित कर लेना चाहिए.

आइसक्रीम बिजनेस स्टार्टअप के लिए आवश्यक Registration

सबसे पहले तो आपको स्वामित्व पैटर्न तय करना होगा और उसी के अनुरूप आइसक्रीम बिज़नेस शुरू करने के लिए Company Registration नियमों के अनुसार पंजीकरण करना होगा. कंपनी पंजीकरण कराने का अर्थ है उस व्यवसाय में आपका स्वामित्व होगा. ट्रेड लाइसेंस प्राप्त करना होगा.

जैसा की हम सभी जानते है आइसक्रीम एक खाद्य – पदार्थ है और खाद्य पदार्थ निर्माण शुरू करने के लिए Food Safety and Standards Authority of India (FSSAI) से अनुमति लेनी पड़ती है. विनिर्माण प्रक्रिया शुरू करने के लिए कुछ विशिष्ट लाइसेंस की आवश्यकता होती है जिसके लिए आवश्यक मार्गदर्शन आप अपने नजदीकी डीआईसी कार्यालय से भी प्राप्त कर सकते हैं.

इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए निम्नलिखित क़ानूनी पंजीकरण आवश्यक है –

  • Company Registration
  • GST Registration
  • FSSAI Registration
  • Trade License

आइसक्रीम बनाने के लिए कच्चा माल

आइसक्रीम बनाने के लिए कुछ कच्चे माल (Raw Materials) की आवश्यकता होती है जो आपको आसानी से उपलब्ध हो जायेंगे. हम सभी जानते हैं कि आइसक्रीम भी कई प्रकार के होते हैं जिसे बनाने के लिए विभिन्न प्रकार के ingredients इस्तेमाल किये जाते हैं. कुछ सामग्रीयों के नाम निम्न हैं जिसका इस्तेमाल प्रमुख रूप से आइसक्रीम बनाने के लिए किया जाता है –

  • दूध
  • मिल्क पाउडर
  • शुगर
  • क्रीम/बटर
  • फ्लेवर
  • एसेन्स
  • स्टेबलाइजर
  • कलर पाउडर आदि

आइसक्रीम कैसे बनता है?

आइसक्रीम एक frozen dairy product है जिसका production कई चरणों में सम्पूर्ण होता है. जैसे आवश्यक ingredients को मिलाकर मिश्रण तैयार किया जाता है उसके बाद तैयार मिश्रण को कुछ मिनटों के लिए एक निश्चित तापमान पर गर्म किया जाता है ताकि मौजूद बैक्टीरिया  को मारा जा सके इस प्रक्रिया को Pasteurization कहा जाता है.

इसके बाद भी और कई चरण होते हैं जैसे मिश्रण को ठंडा करना, आइसक्रीम को आकर्षक और सुगन्धित करने के लिए रंग और एसेन्स add करना आदि. इसके बाद आइसक्रीम को सांचों में भरकर freezing के लिए रख  दिया जाता है.

Ice – Cream making : जरुरी टिप्स

सबसे पहले मैं आपको यही सलाह देना चाहूँगा कि यदि आप आइसक्रीम मेकिंग उद्योग में प्रवेश करने जा रहे हैं और इस क्षेत्र के बारे में आपके पास बहुत अधिक जानकारी नहीं है यानि इस क्षेत्र में आप बिल्कुल नए हैं तो व्यवसाय शुरू करने से पहले आपको पूरी जानकारी इकट्ठी कर लेनी चाहिए.

कभी भी जल्दबाजी में निवेश नहीं करें. ध्यान रहे कोई भी व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको ठोस निर्णय लेना पड़ता है और जानकारी के अभाव में लोग अक्सर गलतियाँ कर जाते हैं. आपको अपने competitors, बाज़ार की मांग, कार्य शैली आदि का पूरा अध्ययन करना चाहिए.

दूसरी सबसे अहम् बात यह है कि आपको अपने निर्धारित बजट के हिसाब से ही काम करना होगा. आपकी बजट व्यवसाय की संरचना के आधार पर ही निर्भर करेगा.

जब आप इस व्यवसाय में कदम बढ़ा रहे हैं तो आप इस व्यपार में उन्ही लोगों को नियुक्त करें जिन लोगों को आइसक्रीम बनाने की अच्छी समझ हो. वो इसमें उपयोग होनेवाले उपकरणों को आसानी से operate कर सकें. ध्यान रहे नियुक्त किये गये कर्मचारियों का वेतन भी आपके व्यवसाय की बजट का ही हिस्सा होगा.

उपरोक्त सारी चीजें कर लेने के बाद एक महत्वपूर्ण कार्य advertising करना भी है. आप पम्पलेट छपवाकर या अखबार के जरिये अपने व्यवसाय का प्रचार कर सकते हैं.

अंतिम और सबसे महत्वपूर्ण बात कभी भी आप अपने प्रोडक्ट की क्वालिटी नहीं गिरने दें क्योंकि अच्छी क्वालिटी ही आपको बाज़ार में एक नयी पहचान दिलायेगी.

Lal Anant Nath Shahdeo

मैं Lal Anant Nath Shahdeo इस हिंदी ब्लॉग का founder हूँ. यह ब्लॉग बनाने का मेरा उद्देश्य हिंदी पाठकों तक हिंदी भाषा में महत्वपूर्ण जानकारी पहुँचाना है.

Leave a Reply