Loan Tips in Hindi-लोन लेने से पहले इन 5 जरुरी बातों का जरूर रखें ख्याल

Loan Tips in Hindi-लोन लेने से पहले इन 5 जरुरी बातों का जरूर रखें ख्याल – जब भी पैसों की जरूरत पड़ती है और आपका काम ठप पड़ जाता है तो लोन आपके सामने सबसे अच्छा विकल्प साबित होता है. नौकरीपेशा व्यक्ति हो या व्यापार करने वाला, जीवन में कई बार ऐसे मौके आते हैं जैसे शादी, पढ़ाई, घर बनाना आदि जिसे पूरा करने के लिए बहुत पैसे की जरूरत होती है और लोग अपनी जरूरत को पूरा करने के लिए कर्ज लेते हैं.

आपको बता दें कि भारत में कई अलग-अलग प्रकार के लोन उपलब्ध हैं, जिन्हें लोन के उद्देश्य के आधार पर दो श्रेणियों में बांटा गया है, जैसे सिक्योर्ड लोन और अनसिक्योर्ड लोन. सिक्योर्ड लोन के लिए हमें अपनी प्रॉपर्टी जैसे घर, जमीन या कार आदि को सिक्योरिटी के तौर पर बैंक को दिखाना होता है. दूसरी ओर, अनसिक्योर्ड लोन में ऐसी किसी सुरक्षा की आवश्यकता नहीं होती है. व्यक्तिगत ऋण एक अनसिक्योर्ड लोन है, इसका मतलब है कि इस ऋण का लाभ उठाने के लिए कोई गारंटी / सुरक्षा जमा करने या कुछ भी गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं है.

अगर आप पर्सनल लोन से लेकर होम और कार लोन जैसे कई दूसरे लोन लेने जा रहे हैं तो आपको कुछ जरूरी बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए. कहीं ऐसा न हो कि आप लोन लेने के चक्कर में कुछ जरूरी बातें ही भूल जाएं और इसका असर आपके वित्तीय जीवन पर पड़े. तो आइए जानते हैं ऐसी ही 5 बातों के बारे में जिन्हें ध्यान में रखकर आप लोन ले सकते हैं – Loan Tips in Hindi

Loan Tips in Hindi लोन लेने से पहले इन 5 जरुरी बातों का जरूर रखें ख्याल

आपको एक बात हमेशा याद रखनी चाहिए कि कर्ज लेना कोई बड़ी बात नहीं है बल्कि उसे चुकाना बहुत बड़ी जिम्मेदारी है. हर व्यक्ति चाहता है कि उसका कर्ज समय पर चुका दिया जाए, लेकिन स्थिति कभी-कभी जटिल हो जाती है और चुकाना मुश्किल हो जाता है. अगर आप अपने काम की मजबूरी के चलते लोन की तलाश कर रहे हैं तो आपके लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना जरूरी है –

1) अपनी आय का मूल्यांकन करें

अपनी आय का मूल्यांकन करें – यदि आप आर्थिक रूप से स्थिर हैं और मासिक भुगतान वहन कर सकते हैं, तो ऋण लेना आपके लिए सही रहेगा. हालांकि, अगर आपकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है और आपके पास मार्जिन तैयार नहीं है, तो बेहतर है कि आप लोन लेने का फैसला कुछ समय के लिए टाल दें और जब आपको लगे कि आप लोन का मासिक भुगतान वहन कर सकते हैं, तो आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं.

2) ब्याज दरों की तुलना करें

ब्याज दरों की तुलना करें – अगर आप लोन ले रहे हैं तो आपके लिए सभी बैंकों की तुलना करना जरूरी है. यह इसलिए जरूरी हो जाता है क्योंकि अगर आप बैंकों की आपस में तुलना करेंगे तो आपको लगभग हर बैंक और एनबीएफसी कंपनी की अलग-अलग ब्याज दरों का पता चल जाएगा. विभिन्न उधारदाताओं द्वारा दी जाने वाली ब्याज दरों का पता लगाएं और आपस में उसकी तुलना करें.

यदि आप एक ऐसे ऋणदाता से संपर्क करते हैं जिसके साथ आपका पहले से ही पुराना रिश्ता है, तो यह आपको बेहतर सौदे के लिए बातचीत करने में मदद कर सकता है क्योंकि उनके पास पहले से ही आपके व्यक्तिगत और वित्तीय रिकॉर्ड मौजूद हैं. आजकल कई बैंक लोन आदि पर कुछ ऑफर्स भी देते हैं जिसका आप भी फायदा उठा सकते हैं. ऐसा करके आप अपनी ईएमआई कम करने में काफी हद तक सफल हो सकते हैं.

3) ऋण भुगतान करने की अवधि का पता लगाएं

ऋण भुगतान करने की अवधि का पता लगाएं – जब भी आप किसी भी तरह का लोन लेते हैं जैसे पर्सनल, होम या कार लोन आदि तो बैंक आपको लोन चुकाने का समय देता है, जिसके आधार पर आपको हर महीने एक निश्चित ईएमआई बैंक को देनी होती है. आप ऋण भुगतान करने की अवधि का पता लगाएं और अपनी ईएमआई भुगतान क्षमता के आधार पर विभिन्न वर्षों के लिए ईएमआई भुगतान शेड्यूल चुनें.

4) लोन से सम्बंधित नियम एवं शर्तों को समझें

अक्सर ऐसा होता है कि एजेंटों द्वारा ऋणों का मार्केटिंग करके अपने सेल्स टारगेट को पूरा करने के चक्कर में उधारकर्ताओं को लुभावने और गलत जानकारी देते हैं. इसलिए किसी भी तरह के लोन डॉक्यूमेंट पर साइन करने से पहले उसे अच्छे से पढ़ लें तथा यह भी सुनिश्चित करें कि सभी नियम और शर्तें वही हैं जो लोन लेने से पहले आपको बताई गई थीं.

5) ज्यादा ब्याज देने से बचने के लिए लोन की अवधि कम रखें

ज्यादा ब्याज देने से बचने के लिए लोन की अवधि कम रखें – क्या आप जानते हैं कि अगर आप लंबी अवधि के लिए लोन लेते हैं तो आपकी ईएमआई तो कम देनी होगी, लेकिन आपको ज्यादा ब्याज देना होगा. इसलिए कम समय के लिए ही लोन लेने की कोशिश करें, ताकि आपको अपना ज्यादा पैसा ब्याज के रूप में न देना पड़े.

Lal Anant Nath Shahdeo

मैं इस हिंदी ब्लॉग का संस्थापक हूँ जहाँ मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी प्रस्तुत करता हूँ. मैं अपनी शिक्षा की बात करूँ तो मैंने Accounts Hons. (B.Com) किया हुआ है और मैं पेशे से एक Accountant भी रहा हूँ.

Spread your love:

Leave a Comment