Marriage Certificate kaise banaye

Marriage Certificate क्या है तथा इसे online register कैसे करें?

Interesting Story Thoughts

By Lal Anant Nath Shahdeo

Hello friends, आज का topic आपके लिए बहुत ही ख़ास होनेवाला है क्योंकि आज का जो विषय है वह सीधा आपके और हमारे जीवन से जुड़ा हुआ है. आपने कभी न कभी Marriage Certificate के बारे में जरुर सुना होगा.

विवाह तो लोग कर लेते हैं किन्तु कई लोग ऐसे भी हैं जो आधिकारिक रूप से विवाह नहीं करते हैं या इसकी आवश्यकता नहीं समझते हैं.

यदि आप भारत के निवासी हैं तो आपके लिए यह बहुत ही आवश्यक है कि आप अपने विवाह को आधिकारिक बनायें. यह कई मामलों में आपके लिए लाभदायक हो सकता है.

कई लोग ऐसे भी हैं जो शादी का registration कराना चाहते हैं किन्तु इसकी प्रक्रिया की पूरी जानकारी नहीं रहने के कारण उनको मुश्किलों का सामन करना पड़ता है और यह certificate प्राप्त करने में देरी होती है.

चलिए विस्तारपूर्वक समझते हैं कि Marriage Certificate कैसे बनवायें? जानिये विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया क्या है.

Marriage Certificate क्या है?

Marriage Certificate, जिसे हिंदी में विवाह प्रमाण पत्र कहा जाता है. यह प्रमाणपत्र सरकार के द्वारा दो लोगों के आपसी वैवाहिक संबंधों के लिए जारी किया गया प्रमाण पत्र है जिसे Marriage Certificate या विवाह प्रमाण पत्र के नाम से जाना जाता है.

वास्तव में marriage certificate सरकार के द्वारा आधिकारिक रूप से प्रदान किया गया प्रमाण पत्र है जिसके तहत दो लोग शादीशुदा माने जाते हैं.

देखा जाए तो अभी भी बहुत सारे लोग ऐसे भी हैं जो marriage certificate को अनिवार्य नहीं समझते हैं. उनके लिए पारम्परिक रीति – रिवाजों से शादी कर लेना ही काफी होता है. वे ये नहीं समझते हैं कि विवाह प्रमाण पत्र प्रूफ करता है कि आप क़ानूनी तौर पर शादीशुदा हैं.

Marriage Certificate क्यों महत्वपूर्ण है?

वर्ष 2006 में भारत का सर्वोच्च न्यायालय यानि supreme court ने विवाह का पंजीकरण कराना अनिवार्य बना दिया है. इसके कई लाभ हैं साथ ही साथ यह महिलाओं के अधिकारों की सुरक्षा के लिए भी जरुरी है.

क्या आप जानते हैं कि यदि आप विवाहित हैं और आपके पास marriage certificate नहीं है तो क्या हो सकता है? What happens if you don’t register your marriage?

सबसे पहली बात यह है कि यदि आपके पास विवाह प्रमाण पत्र नहीं है और ऐसी परिस्थिति आ जाए जहाँ पर आपको अपना विवाह साबित करना आवश्यक हो तो आप क्या करेंगे? आप अपनी शादी का प्रमाण देने के लिए शादी का कार्ड, शादी से सम्बंधित फोटोग्राफ या अन्य कोई दस्तावेज या प्रमाण देंगे.

इतनी सारी दस्तावेज एक साथ देना आपके लिए मुश्किल होगा या हो सकता है. जरुरत के समय में इनमें से कुछ दस्तावेज तत्काल आपके पास उपलब्ध न हो. ऐसे समय में marriage certificate आपके लिए बहुत काम आता है.

Marriage Certificate बनाने के लाभ

दुनिया के कई ऐसे देश हैं जो पारम्परिक विवाह को मान्यता नहीं देते हैं. ऐसी जगह जहाँ पर पारम्परिक विवाह को नहीं माना जाता है वहां पर आपको अपनी शादी का प्रमाण देने के लिए marriage certificate आवश्यक है.

Joint property लेने के लिए

बैंकों में Joint Account खुलवाने के लिए

Spouse visa हासिल करने में

अपने देश से बहार किसी अन्य देश में स्थायी निवास का आवेदन करने के लिए

बाल विवाह जैसे कुरीतियों को रोकने के लिए

शादी में किसी भी प्रकार के धोखाधड़ी को रोकने के लिए

इसकी मदद से आसानी से थाने में report कराई जा सकती है.

Marriage certificate रहने से विशेषकर महिलाओं के अधिकार सुरक्षित होते हैं.

जीवन विमा का लाभ लेने के लिए

तलाक के लिए अपील करने में सहायक

Passport/Visa हासिल करने में

यह प्रमाण पत्र शादीशुदा और तलाकशुदा दोनों के लिए आवश्यक है.

विवाह अधिनियम क्या है?

आप अपने विवाह को विशेष विवाह अधिनियम (1954) या हिन्दू विवाह अधिनियम (1955) इन दोनों में से किसी एक अधिनियम के तहत पंजीकृत करा सकते हैं. हिन्दू विवाह अधिनियम जहाँ हिन्दुओं पर लागू होता है वहीँ विशेष विवाह अधिनियम देश के सभी नागरिकों पर लागू होता है.

Marriage Certificate बनवाने के लिए जरुरी दस्तावेज

आज के लेख में हम जानेंगे कि online marriage certificate कैसे बनायें? एक बात मैं यहाँ पर स्पष्ट कर देना चाहता हूँ कि marriage certificate बनाने के लिए आप online form भर सकते हैं किन्तु इसके साथ कुछ जरुरी documents होते हैं उन्हें upload करना होता हैं. यदि आप marriage certificate बनाना चाहते हैं तो कुछ जरुरी documents आपके पास होना जरुरी है जैसे:

  • पासपोर्ट साइज़ फोटो वर और वधु दोनों का

  • ID Proof वर और वधु दोनों का : (जैसे Voter ID, Driving License या Passport No. का उपयोग कर सकते हैं)

  • विवाह की तस्वीरें वर और वधु दोनों का

  • विवाह कार्ड

  • शपथ पत्र वर और वधु दोनों का

  • जन्म प्रमाण पत्र / ड्राइविंग लाइसेंस / आधार कार्ड / मार्कशीट फोटोकॉपी (वर और वधु का date of birth सत्यापित करने के लिए)

  • गवाह (Witness) का पता ID Proof के साथ)

  • वर और वधु के माता या पिता का ID proof.

  • वर की न्यूनतम आयु 21 वर्ष और वधु की न्यूनतम आयु 18 वर्ष होना चाहिए.

इन्हें भी देखें : ऑनलाइन रेलवे टिकट कैसे बुक करें?

कैसे बनायें Online Marriage Certificate?

यदि आप online marriage certificate बनाना चाहते हैं तो ये कोई मुश्किल काम नहीं है. इस कार्य के लिए आपको अपने राज्य के आधिकारिक website में जाकर marriage certificate के लिए apply करना होगा. प्रत्येक राज्य में marriage certificate बनाने के लिए जो online फॉर्म भरा जाता है वह एक दुसरे से भिन्न हो सकता है किन्तु कुछ common चीजें होती है वो लगभग सभी राज्यों में एकसमान लागू होते हैं.

प्रत्येक राज्यों के द्वारा अपने नागरिकों को online सुविधाएँ प्रदान करने के लिए आधिकारिक websites बनाये गये हैं. निचे मैं कुछ राज्यों के आधिकारिक websites के बारे में जानकारी दे रहा हूँ जिसकी मदद से सम्बंधित राज्य के लोग marriage certificate online बना सकते हैं:

झारखण्ड राज्य (झारखण्ड सरकार झार सेवा) – jharsewa.jharkhand.gov.in

राजधानी दिल्ली (दिल्ली सरकार) – edistrict.delhigovt.nic.in

महाराष्ट्र राज्य (लोकसेवा हक्क अधिनियम) – aaplesarkar.mahaonline.gov.in

उत्तरप्रदेश राज्य (स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग) – igrsup.gov.in

राजस्थान राज्य (आर्थिक एवं सांख्यिकी निदेशालय) – pehchan.raj.nic.in

मध्यप्रदेश राज्य (ई-नगर पालिका) – mpenagarpalika.gov.in

चलिए मैं आपको step wise समझाता हूँ कि आप marriage certificate बनाने के लिए online फॉर्म कैसे भरेंगे. मैं झारखण्ड राज्य के आधिकारिक website jharsewa.jharkhand.gov.in के माध्यम से आपको समझाने का प्रयास करूँगा.

झारखण्ड राज्य में विवाह निबंधन फॉर्म ऑनलाइन कैसे भरें?

Step 1 : सबसे पहले आप अपने राज्य झारखण्ड के आधिकारिक website jharsewa.jharkhand.gov.in में visit करें. (Note : यह site केवल झारखण्ड राज्य के नागरिकों के लिए है. यदि आप झारखण्ड के आलावा कोई अन्य राज्य से सम्बन्ध रखते हैं तो आप अपने राज्य से  सम्बंधित website में visit करें.)

Step 2 : यदि आप नए user हैं तो खुद को register करें (Register Yourself). खुद को रजिस्टर करने के लिए आपको कुछ information fill करनी होगी. आपको अपना email ID देना होगा. (एक बात का ध्यान रखें कि सभी राज्यों की websites में register करने की जरुरत नहीं पड़ती है. कुछ राज्यों की sites ऐसे हैं जहाँ पर आप बिना register किये ही enter कर सकते हैं.)

Step 3 : Login into portal, आप अपने Id और Password का उपयोग करके login करें. इसके बाद ही आप आगे का process कर पाएंगे.

Step 4 : Apply for services : लॉगइन करने के बाद आपके सामने एक नया page खुलेगा जिसमें कई options होंगे (जैसे Manage profile, apply for services, view status of application और messages & alerts) जिसमे से आपको apply for services पर click करना है और उसके बाद view all available services पर click करें.

Step 5 : जैसे आप view all available services पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने बहुत सारी सेवाएं एक साथ open हो जाएगी. इन services में से आपको search करना होगा कि Marriage Registration Certificate कहाँ पर है. अपने search को आसान बनाने के लिए आप search box का उपयोग कर simple type करें – “marriage registration” टाइप करने के साथ ही आपके सामने Marriage Registration Certificate का option आ जायेगा जिसमें आपको click करना है:

Step 6 : अब finally आपके सामने Marriage Registration Form / विवाह निबंधन हेतु आवेदन पत्र open हो जाएगी. अब आप दिए गये format के अनुसार सावधानीपूर्वक applicants की जानकारी भरें. Format इसप्रकार होगा:-

Applicant details : इसमें आवेदक का नाम, पता, मोबाइल नंबर और ईमेल एड्रेस भरना है.

Husband details : यहाँ पति का नाम, पति के पिता और माता का नाम, जन्म तिथि, राष्ट्रियता, धर्मं, BPL / बी.पी.ल, मोबाइल नंबर, ईमेल एड्रेस, पता और देश भरना है.

Wife details : यहाँ पत्नी का नाम, पत्नी के पिता और माता का नाम, जन्म तिथि, राष्ट्रियता, धर्मं, BPL / बी.पी.ल, मोबाइल नंबर, ईमेल एड्रेस, पता और देश भरना है.

Marriage details : इसमें विवाह की तिथि, विवाह का स्थान, पता और देश भरना है.

Address from Where Applicant want Marriage Certificate : यहाँ पर आप विवाह प्रमाण पत्र जिस पते पर जारी करना चाहते हैं उसका details देना है जैसे कि wife address, husband address या विवाह के स्थान का पता.

Witness Details : यहाँ पर गवाही का विवरण भरना है जैसे पहले, दुसरे और तीसरे गवाह का नाम और पता भरना है.

Upload documents : पूरी details भरने के बाद आपको कुछ documents proof के तौर पर upload करना होगा जैसे : पति/पत्नी का फोटो, couple photo (जोड़े का photo), शादी का फोटो, पहले, दुसरे और तीसरे गवाह का फोटो, पति/पत्नी का हस्ताक्षर, पहले, दुसरे और तीसरे गवाह का हस्ताक्षर.

Declaration (घोषणा) : जब आप विवाह का निबंधन करते हैं तो प्रत्येक राज्य का अपना-अपना कुछ शर्त हो सकता है. आप इन शर्तों को ध्यान से पढने के बाद अंत में “submit” पर क्लिक करें.

फॉर्म submit करने के बाद का process

Online फॉर्म भरकर submit करने के बाद और भी कुछ महत्वपूर्ण कार्य शेष रहते हैं. जब आपका form सफलतापूर्वक submit हो जायेगा उसके पश्चात आपको एक temporary नंबर मिलेगा जो एक्नॉलेजमेंट स्लिप पर भी होगा.

आपको एक बात का ध्यान रखना है कि अपना एक्नॉलेजमेंट स्लिप और application form का print निकाल लें. इतना करने के बाद आपका आवेदन का कार्य समाप्त हो जायेगा.

आवेदन के 15 दिनों के बाद रजिस्ट्रार ऑफिस या सम्बंधित कार्यालय में physical verification होता है. इसके बाद आपको marriage certificate प्राप्त हो जायेगा. इसके लिए आपको registration fees के तौर पर हिंदू मैरिज एक्ट के लिए 100 रुपया और स्पेशल मैरिज एक्ट के लिए 150 रुपया का भुगतान करना होगा.

पूरी प्रक्रिया समाप्त हो जाने के पश्चात आप पोर्टल से प्राप्त application number डालकर अपना marriage certificate download कर सकते हैं.

अंतिम बात

मुझे आशा है कि आप marriage certificate से सम्बंधित बातें समझ चुके होंगे. यह certificate आपकी शादी का एक महत्वपूर्ण प्रमाण होता है. यह सहायक होता है जॉइंट होम लोन लेने में, कपल वीजा लेने में, ज्वॉइंट बैंक अकाउंट खुलवाने आदि में. Online marriage certificate बनाना कोई जटिल काम नहीं है. केवल जरुरी documents आपके पास होना चाहिए.

आज के लेख में बस इतना ही और यदि आप इस विषय पर अपनी कोई जिज्ञाषा प्रकट करना चाहते हैं तो आप हमें comment कर सकते हैं. Post पसंद आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों को Facebook, twitter, WhatsApp जैसे social sites पर share करें ताकि और लोगों को भी यह जानकारी प्राप्त हो सके.

Lal Anant Nath Shahdeo

मैं इस हिंदी ब्लॉग का संस्थापक हूँ जहाँ मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी प्रस्तुत करता हूँ. मैं अपनी शिक्षा की बात करूँ तो मैंने Accounts Hons. (B.Com) किया हुआ है और मैं पेशे से एक Accountant भी रहा हूँ.

https://www.aryavartatalk.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *