penny stocks kya hai

Penny stocks क्या है? पैनी स्टॉक्स के बारे में जानने योग्य महत्वतपूर्ण बातें

Finance

शेयर बाजार से जुड़े हुए लोग अक्सर ‘penny stocks’ के बारे में सुनते रहते हैं किन्तु क्या आप जानते हैं कि यह क्या होता है? यदि कोई शेयर पैनी स्टॉक्स बन चूका है तो इसका मतलब क्या होता है? यदि आप नहीं जानते हैं और इसके बारे में समझना चाहते हैं तो कृपया इस आर्टिकल के साथ अंत तक बने रहें.

दरअसल low price stocks के नाम से भी जाना जानेवाला इन स्टॉक्स के दाम बहुत कम होते हैं.

शुरूआती लोगों के लिए जो ट्रेडिंग में अपनी पकड़ मजबूत करना चाहते हैं यह एक अच्छा दांव हो सकता है. इन शेयरों के दाम कम होने से आपको ट्रेडिंग के लिए ज्यादा निवेश करने की आवश्यकता नहीं होती है फलस्वरूप नुकसान कम होता है.

आपको एक महत्वपूर्ण बात बता दें कि पेनी स्टॉक्स के निवेशक बाजार के उतार – चढ़ाव से ज्यादा प्रभावित होते हैं. कहने का तात्पर्य यह है कि पैनी स्टॉक्स सस्ते जरूर होते हैं लेकिन इसमें जोखिम भी बहुत रहता है. कई बार बाजार में तेजी का फायदा भी इनको होता है.

क्या आपको penny stocks में ट्रेड करना चाहिए? पेनी स्टॉक क्या हैं? क्या वे निवेश करने के लिए अच्छे हैं? इन सभी प्रश्नों का जवाब आपको इस लेख में प्राप्त होगा.

Penny Stocks क्या है?

आमतौर पर भारतीय शेयर बाजार में पेनी स्टॉक की कीमत 10 रुपये से कम हो सकती है. ये ऐसे स्टॉक स्टॉक होते हैं जिनका कारोबार बहुत कम कीमत पर किया जाता है. सामान्यतः इसकी पेशकश कम बाजार पूंजीकरण वाली कंपनियों द्वारा किए जाते हैं. हमारे देश में पैनी स्टॉक का कारोबार NSE और BSE पर होता है.

पेनी स्टॉक छोटी सार्वजनिक कंपनियों के सामान्य शेयरों को संदर्भित करता है जो कम आधार पर व्यापार करते हैं. वे ज्यादातर छोटे एक्सचेंजों पर सूचीबद्ध होते हैं और उन्हें बाजार पूंजीकरण के आधार पर नैनो-कैप स्टॉक, माइक्रो-कैप स्टॉक, और स्मॉल-कैप स्टॉक भी कहा जाता है.

ऐसा माना जाता है कि इसमें निवेश करना जुआ जैसा होता है. इसमें तरलता की कमी होती है साथ ही इसके शेयरधारकों की संख्या भी कम ही पायी जाती है. यह अत्यधिक जोखिम भरा माना जाता है. कहते हैं इसमें risk और return दोनों high होते हैं.

कंपनियों की सही-सही पहचान करके और उनमें निवेश करके इसके जरिये अच्छा रिटर्न अर्जित किया जा सकता है लेकिन यह आसान नहीं होता है. इसके लिए आपके पास गहरी समझ होनी चाहिए.

पैनी स्टॉक्स के बारे में कुछ जानने योग्य बातें

  • शेयर बाजार में इनका ट्रेड बहुत ही कम कीमत पर होते हैं.
  • भारतीय शेयर बाजार में पेनी स्टॉक की कीमत 10 रुपये से कम हो सकती है.
  • ये स्टॉक बहुत तरल नहीं होते हैं और कभी-कभार ही इनका कारोबार होता है.
  • इनके कीमत में अत्यधिक उतार-चढ़ाव होता है.
  • तकनीकी संकेतकों के माध्यम से उतार – चढ़ाव का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है.
  • कम बाजार पूंजीकरण कंपनी द्वारा पेश किये जाते हैं.

पैनी स्टॉक्स क्यों ख़रीदे जाते हैं?

शुरुआती लोगों को इसके कम कीमत ज्यादा आकर्षित करता है साथ ही इसमें रिटर्न काफी अधिक है. यदि आप एक अच्छा पैसा स्टॉक प्राप्त करने में सक्षम होते हैं तो आप अच्छा रिटर्न कमा सकते हैं. ऐसे कई पैनी स्टॉक हैं जो इसके निवेशकों के लिए मल्टी-बैगर (multi-bagger) साबित हुए हैं.

ट्रेडिंग की दुनिया में प्रवेश कर रहे नए निवेशकों के लिए यह अच्छा विकल्प हो सकता है. इसमें तकनीकी विश्लेषण की आवश्यकता नहीं होती है साथ ही नुकसान भी कम होता है. आप छोटी राशि निवेश करके ट्रेडिंग सीख सकते हैं. यहाँ प्रयोग करने की अत्यधिक स्वतंत्रता प्राप्त होती है. आप गलतियां करके सीख सकते हैं क्योंकि कीमतें कम होने से निवेशकों को अपनी बहुत अधिक पूंजी निवेश करने की जरुरत नहीं होती है.

पैनी स्टॉक्स में निवेश करने से पूर्व जानने योग्य बातें

अपने कई सारे फायदों के साथ ये उच्च जोखिम के साथ आते हैं. जैसा की आप समझ चुके हैं ये कम बाजार पूंजीकरण कंपनियों द्वारा पेश किये जाते हैं. ये ऐसे कंपनी होते हैं जिनकी विकास की संभावनाओं का हम अंदाजा नहीं लगा सकते हैं. ऐसे कंपनियों की वित्तीय स्थिरता, प्रदर्शन के पिछले ट्रैक रिकॉर्ड, लाभ उत्पन्न करने की क्षमताआदि जानकारियों से हम वंचित रह जाते हैं. ऐसे महत्वपूर्ण जानकारियों के अभाव में निवेशकों का जोखिम बढ़ जाता है.

पैनी स्टॉक में बहुत कम तरलता होती है जिसके कारण निवेशक सरलता से खरीद – बिक्री नहीं कर पाते हैं. यहाँ आपको स्टॉक बेचने के लिए आसानी से खरीदार नहीं मिल सकता है और स्तिथि तब और बिगड़ जाती है जब इसकी कीमत तेजी से कम होने लगती है और आपको कोई खरीदार नहीं मिलता है.

इसके साथ एक जोखिम यह भी है कि इसके जारीकर्ता कंपनी अचानक स्टॉक एक्सचेंज से डीलिस्ट होने का फैसला कर सकती हैं. जानकारी के अभाव में ऐसे स्टॉक्स को खोजना मुश्किल होता है, जो उच्च रिटर्न उत्पन्न कर सकते हैं.

यदि आप भी पैनी स्टॉक्स में निवेश करने का निर्णय ले रहे हैं तो पूरी सावधानी के साथ आगे बढिये. किसी भी कंपनी में निवेश से पूर्व कंपनी की वित्तीय स्थिरता, पिछले प्रदर्शन, विकास की संभावनाओं की जानकारी प्राप्त करना काफी महत्वपूर्ण माना जाता है.

कभी भी ज्यादा पैसा निवेश मत कीजिये हमेशा अपने जोखिम क्षमता के अनुसार ही निवेश करें. कभी भी एक ही शेयर में पूरा पैसा नहीं लगाना चाहिए. आपको आगे बढ़ने से पहले सम्बंधित कंपनी पर पूरी रिसर्च करना चाहिए. आखिर में किसी भी निवेशक को भावनात्मक ट्रेडिंग से बचना चाहिए.

नोट: हमारी वेबसाइट आपको केवल महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करती है. हम वित्तीय सलाहकार नहीं हैं और ना ही किसी को निवेश सम्बंधित कोई सलाह देते हैं. कहीं भी निवेश करने से पहले आपको पूरी जानकारी लेनी चाहिए या किसी वित्तीय सलाहकार से संपर्क करना चाहिए.

Lal Anant Nath Shahdeo

मैं इस हिंदी ब्लॉग का संस्थापक हूँ जहाँ मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी प्रस्तुत करता हूँ. मैं अपनी शिक्षा की बात करूँ तो मैंने Accounts Hons. (B.Com) किया हुआ है और मैं पेशे से एक Accountant भी रहा हूँ.

https://www.aryavartatalk.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.