PhD kya hai

PhD क्या है? कैसे करें पूरी जानकारी हिंदी में

Business

यदि आप शिक्षा के क्षेत्र में सर्वोच्च डिग्री हासिल करना चाहते हैं तो आपको PhD (Doctor of Philosophy) करना चाहिए. मास्टर डिग्री में योग्यता पूरी करने के बाद इस कोर्स को किया जा सकता है. वास्तव में यह एक बहुत ही प्रतिष्ठित कोर्स है क्योंकि जब आप इस कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो आपके नाम के पहले Dr (डॉक्टर) का टाइटल जुड़ जाता है जो की वास्तव में किसी के लिए सम्मानजनक बात है.

PhD करना अर्थात किसी विषय पर महारत हासिल करना होता है. इस कार्यक्रम के अंतर्गत किसी भी विषय पर जिसमे आपकी रूचि हो उस पर गहन शोध करके विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं. यदि आपका भी कोई पसंदीदा विषय है जिसपर आप सम्पूर्ण ज्ञान प्राप्त करना चाहते हैं या उसपर अविश्वसनीय अनुसन्धान करना चाहते हैं साथ ही साथ अपने नाम के साथ डॉक्टर की उपाधि शामिल करना चाहते हैं तो PhD आपके लिए उपयुक्त विकल्प है.

किसी भी विषय पर महारत हासिल करना आसान नहीं होता है, कड़ी मेहनत करनी पड़ती है. यदि आपमें भी उच्च शिक्षा प्राप्त करने का जूनून है तो आप भी पीएचडी डिग्री हासिल करके एक प्रोफेसर, वैज्ञानिक या एक शोधकर्ता के रूप में करियर बना सकते हैं.

चलिए, जानते हैं कि PhD (Doctor of Philosophy) क्या है? आप कौन से विषय से पीएचडी कर सकते हैं? PhD कोर्स के लिए पात्रता मानदंड क्या हैं? PhD कोर्स करने के फायदे क्या – क्या हैं? इस कोर्स को करना किसके लिए उपयुक्त हो सकता है आदि प्रश्नों दे उत्तर आज के इस महत्वपूर्ण लेख के जरिये जानेंगे.

PhD (Doctor of Philosophy) क्या है?

PhD जिसका पूर्ण रूप Doctor of Philosophy होता है. यह मास्टर डिग्री पूरी कर लेने के बाद डिग्री का उच्चतम स्तर है. वास्तव में यह उच्च स्तरीय doctoral degree है. आमतौर पर यह 3 वर्षों की डिग्री है किन्तु छात्र चाहें तो इसे अधिकतम 5 या 6 वर्षों के अंदर कर सकते हैं. हालांकि, पाठ्यक्रम की अवधि एक संस्थान से दूसरे संसथान में भिन्न हो सकती है.

योग्य उम्मीदवार किसी भी स्ट्रीम से PhD की डिग्री हासिल कर सकते हैं. इस कोर्स के अंतर्गत चयनित विषय पर in-depth research (गहन शोध) करने और थीसिस लिखने की आवश्यकता होती है और ऐसे छात्रों को विश्वविद्यालयों द्वारा पीएचडी जैसे उच्च शैक्षिक डिग्री से सम्मानित किया जाता है. इस डिग्री को प्राप्त करनेवाला व्यक्ति अपने नाम के साथ डॉक्टर की उपाधि का उपयोग कर सकता है.

यदि छात्र जिस विषय से स्नातक किया है और उसी विषय से मास्टर की डिग्री भी हासिल की है तो उसके लिए आगे की राह आसान हो जाती है और ध्यान रहे प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए किसी प्रकार की समस्या न हो इसके लिए मास्टर डिग्री में कम से कम 60% अंत प्राप्त करना अच्छा रहता है.

चलिए एक नजर डालते हैं इस कोर्स के ऊपर –

  • कोर्स का नाम : PhD
  • फुल फॉर्म ऑफ़ पीएचडी : Doctor of Philosophy
  • कोर्स का स्तर : डॉक्टरेट
  • कोर्स की अवधि : 3 वर्ष अधिकतम 5 से 6 वर्ष (अलग – अलग कॉलेजों में अवधि में भिन्नता पायी जा सकती है)
  • नामांकन : मास्टर डिग्री और प्रवेश परीक्षा के आधार पर
  • रोजगार के क्षेत्र : अनुसंधान, विज्ञान, शिक्षा, साहित्य, सिविल सेवा, राजनीति, विश्लेषक, कानून, बैंकिंग आदि.
  • किस प्रकार का कार्य कर सकते हैं : शोधकर्ता, सालहकार, प्रोफेसर, प्रबंधक, दार्शनिक, लेखक आदि.

आप कौन से विषय से पीएचडी कर सकते हैं

जैसा कि आप समझ चुके हैं आप जिस विषय पर विशेषज्ञता पाना चाहते हैं उस विषय से पीएचडी कर सकते हैं, यह पूरी तरह से आप पर निर्भर है कि आप कौन सा विषय का चयन करते हैं. यह एक ऐसा क्षेत्र है जहाँ आप विभिन्न लोकप्रिय विषय का चुनाव कर सकते हैं जैसे – कला, कानून, चिकित्सा विज्ञान, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित, पृथ्वी विज्ञान, इंजीनियरिंग, मानविकी आदि.

चलिए जानते हैं कुछ लोकप्रिय पीएचडी कार्यक्रम के बारे में :

  • PhD in Humanities
  • PhD in Economics
  • PhD in English
  • PhD in Psychology
  • PhD in Chemistry
  • PhD in Physics
  • PhD in Clinical Research
  • PhD in Commerce
  • PhD in Engineering
  • PhD in Information Technology
  • PhD in Management
  • PhD in Law
  • PhD in Education
  • PhD in Biotechnology आदि.

उपरोक्त विषयों के आलावा और भी कई ऐसे विषय हैं जिपर आप पीएचडी कर सकते हैं.

PhD कोर्स के लिए पात्रता मानदंड

PhD कोर्स में प्रवेश पाने के लिए इच्छुक उम्मदीवारों को निम्न पात्रता मानदंड पूरा करना होगा जैसे –

  • किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से समान पाठ्यक्रम अर्थात जिस विषय से अभ्यर्थी पीएचडी करना चाहता है उस विषय से मास्टर डिग्री पूरी की हो.
  • उम्मीदवारों को संबंधित विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा देनी पड़ती है.
  • कुछ कॉलेज नामांकन से पहले पर्सनल इंटरव्यू को भी महत्व देती है.
  • कई colleges के अनुसार आपको UGC NET टेस्ट पास करना जरुरी होता है.
  • आमतौर पर UGC NET, GATE, JEST जैसी प्रवेश परीक्षा पास करने वालों को पीएचडी करने के लिए फेलोशिप की पेशकश की जा सकती है.

PhD कोर्स करने के फायदे

phd kya hai

पीएचडी एक बहुत ही प्रतिष्ठित डिग्री है और इस डिग्री के होने से व्यक्तिगत और सामाजिक जीवन में आपको कई प्रकार से फायदा हो सकता है जैसे –

जब आप अपनी पसंदीदा विषय के बारे में पूरा ज्ञान प्राप्त कर लेते हैं तो आपको जो आत्म संतुष्टि प्राप्त होती है वह अकथनीय है. यह कोर्स आपको “क्यों” का जवाब ढूंढने का मौका प्रदान करता है जिससे आपकी सम्बंधित विषय पर समझ की वृद्धि होती है.

जब आप अपनी विषय की अच्छी समझ रखते हैं तो आपको और जानने की उत्सुकता बढ़ती जाती है और इसतरह से आपकी बौद्धिक क्षमता की वृद्धि होती है. यह बौद्धिक वृद्धि आपको अपने क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए मदद करती है.

आपको अपना रास्ता चुनने की स्वतंत्रता होगी साथ ही आप एक सम्मानजनक नौकरी प्राप्त करने के अधिकारी होंगे.

इस डिग्री को प्राप्त कर लेने के पश्चात आप एक विशिस्ट व्यक्ति होंगे और आपके नाम के आगे डॉक्टर लग जाता है जो गर्व की बात है.

जब आप प्रमुख क्षेत्रों पर महत्वपूर्ण काम करते हैं और अपना योगदान देते हैं तो हो सकता है विश्व स्तर पर आपकी ख़ास पहचान भी बनें.

आप अपने क्षेत्र के विशेषज्ञ होंगे.

क्या आप प्रोफेशनल कोर्स की तलाश में हैं तो देखें हमारे निम्न लेख –

अंतिम बात : निष्कर्ष

PhD कोई सामान्य कोर्स नहीं है यह एक बहुत ही प्रतिष्ठित डाक्टरल डिग्री है. इस डिग्री को प्राप्त करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है. खासकर जिनलोगों की पढाई में काफी रूचि होती है ऐसे लोग ही कॉलेज पूरी करने के बाद पीएचडी करते हैं.

कोई चाहता है कि वह प्रोफेसर बने या किसी विषय पर रिसर्च करे तो ऐसे लोगों के लिए पीएचडी करना उपयोगी होता है. यदि आपकी भी रूचि पीएचडी करने में है तो आप इसकी तैयारी पहले से ही शुरू कर दें. आपने जिस विषय से 12वीं पास किया है उसी आधार पर अच्छे अंकों के साथ स्नातक और स्नातकोत्तर की डिग्री पास करें.

ध्यान रहे पीएचडी में नामांकन हेतु प्रवेश परीक्षा देना पड़ता है. आपको UGC NET जैसे टेस्ट पास करना पड़ता है. कुछ colleges में नामांकन के लिए व्यक्तिगत साक्षात्कार भी देना पड़ता है. इसप्रकार आप देश में मौजूद अच्छे पीएचडी कॉलेज में दाखिला प्राप्त करके अपने सपनों की उड़ान को एक नयी ऊंचाई दे सकते हैं.

Lal Anant Nath Shahdeo

मैं इस हिंदी ब्लॉग का संस्थापक हूँ जहाँ मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी प्रस्तुत करता हूँ. मैं अपनी शिक्षा की बात करूँ तो मैंने Accounts Hons. (B.Com) किया हुआ है और मैं पेशे से एक Accountant भी रहा हूँ.

https://www.aryavartatalk.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *