share market kya hai?

Share Market Kya Hai? शेयर बाज़ार के बारे में basic जानकारी हिंदी में

Finance Interesting Story

By Lal Anant Nath Shahdeo 

Share market (शेयर बाज़ार) एक ऐसा विषय है जो मुझे बहुत पसंद है और यह काफी विस्तृत भी है किन्तु आज के लेख में मैं आपको केवल इसके बारे में कुछ basic जानकारी प्रदान करूँगा. यदि आप इस विषय पर नए हैं तो सबसे पहले आपके लिए भी जरुरी है कि आप इसके बारे में समझें कि – शेयर बाज़ार आखिर होता क्या है? यह कैसे काम करता है आदि बुनियादी बातें समझने होंगे.

आज के दौर के लिए ‘share market’ कोई नया नाम नहीं है, इसके बारे में बहुत से लोग सुन चुके या इसके बारे में जानते हैं किन्तु उपरी तौर पर जानना और गहराई से जानने में काफी अंतर है. यदि आप भी सोंचते हैं कि कैसे कोई share market में पैसा लगा कर मुनाफा कमाता है तो आज का लेख अंत तक पढ़ें.  

परिचय : Share Market Kya Hai? 

Market के बारे में तो आप जानते ही हैं यहाँ पर वस्तुओं और सेवाओं का क्रय व विक्रय होता है ठीक इसी प्रकार share market में कंपनियों के share ख़रीदे और बेंचे जाते हैं. Market का मतलब ही होता है एक ऐसी जगह जहाँ पर खरीद – बिक्री किया जा सके.

Share का अर्थ होता है हिस्सा (किसी कंपनी में लगनेवाली पूंजी का हिस्सा) और आप share market में shares को खरीद और बेंच सकते हैं. शेयर बाज़ार में लोग बड़ी return की उम्मीद के साथ निवेश करते हैं. 

इसप्रकार हम कह सकते हैं कि share market (stock market) एक ऐसी जगह है जहाँ पर हम किसी सूचीबद्ध कंपनी में हिस्सेदारी खरीद और बेंच सकते हैं. मान लीजिये आपने किसी कंपनी का 10% शेयर लिए है तो हम कह सकते हैं कि आपका उस कंपनी में 10% हिस्सा है. 

किसी कंपनी को चलाने के लिए बहुत बड़ी पूंजी की जरुरत होती है और कोई अकेला व्यक्ति इतनी बड़ी पूंजी कंपनी में नहीं लगा सकता है. इतनी बड़ी पूंजी की जरुरत को पूरा करने के लिए पूंजी को छोटे – छोटे अंशों में आम लोगों के बीच बाँट दिए जाते हैं, इन्ही अंशों या हिस्सों को share (stock) कहा जाता है. इन शेयरों को कोई भी व्यक्ति खरीद सकता है और उस कंपनी का उतने हिस्से का मालिक बन सकता है.

Share market (शेयर बाज़ार) एक नजर :

किसी लिस्टेड कंपनी के shares ख़रीदे और बेंचे जाते हैं

आप ब्रोकर के माध्यम से shares ख़रीद और बेंच सकते हैं

ब्रोकर अपने ग्राहकों के लिए shares खरीदता और बेंचता है और इसके लिए commission चार्ज करता है. 

शेयर बाज़ार में भाग लेने के लिए आपको किसी ब्रोकर के माध्यम से Trading account और Demat account खुलवाना होगा. 

भारत के Stock Exchanges

भारत के दो stock exchanges हैं :

  1. BSE (Bombay Stock Exchange)
  2. NSE (National Stock Exchange)

BSE और NSE स्टॉक एक्सचेंजों पर ही भारत के शेयर बाज़ार का कारोबार होता है. BSE का प्रमुख इंडेक्स sensex है और NIFTY NSE पर सूचीबद्ध सर्वोच्च 50 shares पर आधारित है. यदि इसे साधारण शब्दों में कहें तो सेंसेक्स BSE (Bombay Stock Exchange) का संवेदी सूचकांक है जिसे BSE Sensex या BSE 30 ( क्योंकि यह सर्वोच्च 30 शेयरों पर आधारित है) भी कहा जाता है और इसीतरह NIFTY NSE (National Stock Exchange) का सूचकांक है.

शेयर बाज़ार में BSE या NSE में ही किसी लिस्टेड कंपनी का शेयर ख़रीदे और बेचें जाते है. शेयर क्रय और विक्रय करने के काम किसी ब्रोकर के माध्यम से किया जाता है. 

Shares कैसे ख़रीदा जाता है?

Share market में भाग लेने के लिए आपको सबसे पहले किसी ब्रोकर से मिलके ट्रेडिंग और डीमैट account खुलवाना होगा. कई बैंक भी ऐसे हैं जो ब्रोकर का काम करते है वहां जाकर भी आप account खुलवा सकते हैं. शेयर्स खरीदने का मतलब होता है कि जब किसी कंपनी के द्वारा शेयर्स जारी किये जाते हैं तो आप उस कंपनी के प्रस्ताव के अनुसार जितने शेयर्स खरीदते हैं उतने शेयर्स पर आपका मालिकाना हक़ हो जाता है. आप इन खरीदे गये शेयर्स को जब चाहें बेंच सकते हैं.

शेयर बाज़ार में पैसे कैसे कमाये जा सकते हैं?

Share market में trading के दौरान पल – पल शेयरों की कीमत में उतार चढ़ाव होती रहती है. मांग और पूर्ति के अनुसार कीमत घटती – बढती रहती है. निवेशक यही उम्मीद लगाये रहते हैं कि शेयर की कीमत बढ़ेगी और वह बढ़ी हुई कीमतों पर ख़रीदे गये shares को बेंचेगा और उस बढ़ी हुई कीमतों के रूप में लाभ प्राप्त करेगा. 

जब आप किसी कंपनी में निवेश करते हैं और उस कंपनी को लाभ होगा तब उस कंपनी का लाभ का अंश (आपके ख़रीदे गये shares के अनुपात में) आपको भी प्राप्त होगा जिसे dividend (लाभांश) कहते हैं. और  दूसरा है share value growth से लाभ कमाना यानि कि shares के भाव जब बढ़ जाते हैं और तब आप अपने शेयरों को बढ़ी हुई कीमतों पर बेंचकर लाभ कमाते हैं. 

अन्य महत्वपूर्ण बातें :

Share market का नियंत्रण SEBI (Securities and Exchange Board of India) अर्थात भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड के हाथों में होता है. SEBI का मुख्य उद्देश्य निवेशकों की हितों की रक्षा करना है.

प्रत्येक निवेशकों की तरह यदि आप भी शेयर बाज़ार में निवेश करके मोटी कमाई करना चाहते हैं तो मैं आपसे इतना ही कहना चाहूँगा कि चाह रखना आसान है किन्तु पैसा कमाना नहीं. इसके लिए आपको पहले share bazaar को समझना होगा, अच्छी रणनीति के साथ बाज़ार में उतरें तो बेहतर होगा. शेयर बाज़ार में लाभ है तो हानि भी है यह कभी नहीं भूलें इसलिए आपको लाभ और हानि में संतुलन बनाना सीखना होगा. 

शेयर बाज़ार में निवेश कर के ही वारेन बफे भी अरबपति बने हैं जो विश्व के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूचि में शामिल हैं किन्तु ये भी सत्य है कि हर रोज हजारों लोग भी निवेश करते हैं किन्तु हर कोई वारेन बफे नहीं बन सकता है. शेयर बाज़ार में सफल होने के लिए आपको आम आदमी से अलग हटकर बाज़ार को देखना सीखना होगा. सफल होने के कुछ rules फॉलो करने होंगे. आपका प्रत्येक निवेश इतनी research के साथ होना चाहिए कि हानि की संभावना ही न रहे.

Lal Anant Nath Shahdeo

मैं इस हिंदी ब्लॉग का संस्थापक हूँ जहाँ मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी प्रस्तुत करता हूँ. मैं अपनी शिक्षा की बात करूँ तो मैंने Accounts Hons. (B.Com) किया हुआ है और मैं पेशे से एक Accountant भी रहा हूँ.

https://www.aryavartatalk.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *